Powered by

Advertisment
Home हिंदी

क्या होता है जब आपके सपनों की कार बाढ़ में डूब या बह जाती है?

देश में मानसून के आगमन के साथ ही दिल्ली, मुंबई जैसे मेट्रो शहरों से बाढ़ की तस्वीरें सामने आने लगी हैं। इस तरह की बाढ़ में अक्सर सड़कों में कारें फंसी हुई दिखतीं हैं।

By Ground report
New Update
car in flood

Source: X(@Mehdi_Nazeri88)

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

देश में मानसून के आगमन के साथ ही दिल्ली, मुंबई जैसे मेट्रो शहरों से बाढ़ की तस्वीरें सामने आने लगी हैं। इस तरह की बाढ़ में अक्सर सड़कों में कारें फंसी हुई दिखतीं हैं। आइये जानते हैं कि एक बाढ़ में कार चालक कैसी मुसीबतें महसूस करतें है, और क्या है इनके लिए सुरक्षात्मक उपाय। 

बाढ़ के दौरान हम में से कई कर चालक इन समस्याओं में उलझ सकते हैं। जैसे कार में पानी भर जाना, इंजन का भीग जाना, और कार के जरूरी पार्ट्स पर पानी चले जाना। इन सब के अलावा बाढ़ के दौरान कई दुर्घटनाएं हो सकती हैं जिनसे हमारी जान पर भी खतरा बन सकता है। मसलन बाढ़ के दौरान पेड़ या बिजली की लाइन का टूट कर गिरना, और बाहर के पानी का दबाव अधिक होने के कारण दरवाजा न खुल पाने के कारण कार के अंदर ही फसे रह जाना।

 

ऐसी स्थिति में कुछ जरूरी चीजों का ध्यान हमें रखना चाहिए। सबसे पहले खुद को संयम में रखते हुए घबराहट से बचना चाहिए। अगर बाढ़ की स्थिति बन गई है, और वहां से निकलने की कोई गुंजाईश नहीं  है, तो हमें तुरंत अपनी कार का इंजन बंद कर देना चाहिए। अगर पानी कार में भरने लगा है तो हमे किसी बोतल इत्यादि की मदद से पानी को बाहर निकाल कर फेंकना चाहिए। 

ऐसी स्थिति में हमें कार में खड़े होने से बचना चाहिए, साथ ही कार खिड़कियां और सीटबेल्ट खोल देनी चाहिए। अगर हमें ऐसा लगता है कि कार में पानी भर चुका है और वह निकाला नहीं जा सकता है, तो ऐसी स्थिति में हमे बिना घबराए हुए सन रूफ, या खिड़कियों के सहारे बाहर निकलने का प्रयास करना चाहिए। 

अधिकांश बीमा कंपनियां बाढ़ के कारण वाहन हुई क्षतियों पर कवर देती हैं। लेकिन हमें कितना कवर मिलता है, ये गाड़ी की उम्र, हमारे प्लान इत्यादि पर निर्भर करता है। आम तौर पर प्राकृतिक घटनाओं के कारण हुई क्षति कम्प्रिहेंसिव कवर में आती हैं, जो कि वैकल्पिक होता है न कि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की तरह जरूरी। बाढ़ हमारी कार के सीट, कारपेट से लेकर इंजन और गियर बॉक्स तक में खराबी ला सकती है, और परिस्थितियां प्रतिकूल होने पर यह हमारी जान पर भी खतरा खड़ा कर सकती है।

सबसे उपयुक्त सलाह यही मानी जाती है कि अगर हम किसी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के निकट रहते हैं तो हमें अपने कार का पूरा बीमा कवर कराना चाहिए। इसके अलावा ऐसी स्थिति में फंसने पर हमें बिना घबराए, संयम के साथ फैसले लेते निर्णय लेना चाहिए, और आपातकालीन सहायता मांगनी चाहिए। और सबसे जरूरी बात कि अपनी सुरक्षा को हमेशा अपने कार की सुरक्षा से पहले तरजीह देनी चाहिए चाहे वो कितनी ही महंगी ही क्यों न हो।   

यह भी पढ़ें

पर्यावरण से जुड़ी खबरों के लिए आप ग्राउंड रिपोर्ट को फेसबुकट्विटरइंस्टाग्रामयूट्यूब और वॉट्सएप पर फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हमारा साप्ताहिक न्यूज़लेटर अपने ईमेल पर पाना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें।