Home » HOME » Petrol Price @100: देश के वो इलाके जहां पेट्रोल 100 Rs/Ltr के पार बिक रहा है, पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट

Petrol Price @100: देश के वो इलाके जहां पेट्रोल 100 Rs/Ltr के पार बिक रहा है, पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट

Sharing is Important

नई दिल्ली/भोपाल 16 अक्टूबर। इन दिनों देश में जहां मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में विधानसभा चुनावों की गूंज हैं वहीं हर दिन बढ़ने वाले पेट्रोल और डीजल के दामों के चलते जनता के निशाने पर मोदी सरकार है। बीते दिनों पेट्रोल के दाम 90 रुपये लीटर तक जा पहुंचे थे ऐसे में उम्मीद जताई जा रही थी कि जल्द ही ये दाम 100 रुपये पर भी पहुंच जाएंगे या इसके पार हो जाएंगे, लेकिन केन्द्र और बीजेपी शासित राज्य सरकारों ने संयुक्त रूप से इस पर 5 रुपये की कटौती कर डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की।

हांलाकि इसके बावजूद मोदी सरकार जनता के आक्रोश को शांत नहीं कर सकी। ताजा हालातों की बात करें तो देश के कई इलाकों में पेट्रोल 85 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। देश के इतिहास में 90.11 रुपये की दर पेट्रोल का सर्वाधिक मूल्य है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की देश के कई इलाके ऐसे हैं जहां आज पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर या इससे भी महंगा बिक रहा है।

यह भी पढ़ें: बहुत हुई महंगाई की मार, 30 रुपये प्रति लीटर वाला पेट्रोल-डीजल कैसे पहुंचा 80 के पार, यहां समझें

शिवराज के गढ़ बुदनी में भी 100 रुपये लीटर पेट्रोल

आज ग्राउंड रिपोर्ट में हम आपको इन्हीं इलाकों से रूबरू करवा रहे हैं। दरअसल ग्राउंड रिपोर्ट की एक टीम इन दिनों मध्य प्रदेश चुनाव कवर रही है। इस दौरान कई संभागों, जिलों,  विधानसभा क्षेत्रों और ग्रामिण इलाकों में ग्राउंड रिपोर्ट का काफिला पहुंच रहा है। इसी में से एक टीम पहुंची भोपाल से 85 किलोमीटर दूर आष्टा।

इमरजेंसी में इस दर से खरीदते हैं पेट्रोल
आष्टा, सीहोर जिले की इछावर, बुदनी (बुदनी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का विधानसभा क्षेत्र है।), आष्टा और सीहोरी (शहरी) कुल चार विधानसभा सीटों में से एक हैं। यहां से करीब 20 किलोमीटर अंदर है रोला गांव। चुनावी माहौल में किसानों की बातचीत से शुरू हुआ सिलसिला गांव के कल्चर, रहन-सहन से होता हुआ समस्याओं और फिर महंगाई के मुद्दे पर पहुंचा। बात पेट्रोल-डीजल के दाम की निकली तो एक शख्स ने दबी आवाज में बताया कि भैया गांव में पेट्रोल 100 रुपये है।

READ:  Who is Rebel Congress MLA Aditi Singh, who joins BJP

हमने पड़ताल की तो पता चला कि यहां पेट्रोल वाकई में 100 रुपये प्रति लीटर की दर से बिक रहा है। दरअसल यहां से पेट्रोल पंप 20 किलोमीटर दूर आष्टा विधानसभा में पड़ता है। गांव के कुछ लोग स्टॉक कर इमरजेंसी पड़ने पर खुले तौर पर इस दर में पेट्रोल बेचते हैं।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की वजह से छोड़ना पड़ा था ‘गांधी’ जी को घर!

मंदसौर के बालागुड़ा में 105 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल
कुछ ऐसा ही मामला है मंदसौर जिले के आदर्श ग्रामों में से एक बालागुड़ा गांव का। जहां पेट्रोल 100 रुपये के पार पहुंच गया है। गाउंड रिपोर्ट की टीम जब मंदसौर शहर से करीब 21 किलोमीटर अंदर बालागुड़ा गांव किसानों और लोगों से बातचीत करने पहुंची तो उन्होंने अपनी कई समस्याएं बताईं।

सस्ता पेट्रोल खरीदने के उपाय
इसी दौरान हमने गांव में खुले तौर पर बिकने वाले पेट्रोल के दाम जानने चाहे तो बताया गया कि यहां भी पेट्रोल 100 रुपये है क्योंकि यहां से पेट्रोल पंप 21 किलोमीटर दूर मंदसौर शहर में है। अगर यहां अचानक आपकी गाड़ी में पेट्रोल खत्म हो जाए तो आपके पास तीन रास्ते हैं। पहला या तो आप पैदल, बैलगाड़ी या किसी अन्य गाड़ी वाले से लिफ्ट लेकर 21 किलोमीटर दूर से खुद पेट्रोल ले आएं जिसमें आपकी एनर्जी और समय खराब होगा।

दूसरा आप अपनी गाड़ी को 21 किलोमीटर धकेल कर पेट्रोल पंप पहुंचे। अगर आप ऐसा कर सकते हैं तो लेकिन इस दौरान आप हो सकता है कि कई बार अपने आपको और कई बार सरकार को गरियाएं। तीसरा आप 100 रुपये का एक लीटर पेट्रोल गांव से खरीद लें और मंदसौर स्थित पेट्रोल पंप से गाड़ी का टैंक फुल करवालें ताकी ये नौबत दुबारा न आएं। उम्मीद हैं कि आप ऊपर बताई गईं दो कभी न करने वाली बेवकूफी कभी नहीं करेंगे।

READ:  Who is responsible for Bhopal Hamidia Hospital fire tragedy?

यह भी पढ़ें: बाबा रामदेव को है महंगाई की कसक, न जता सकते हैं न छुपा सकते हैं

एक लीटर पर 10-15 रुपये कमीशन
हांलाकि यह आलम सिर्फ मंदसौर, सिहोर, देवास, नीमच, खंडवा और भोपाल सहित प्रदेश गांवों का ही नहीं है बल्की देश के कई ऐसे इलाकों का भी है जहां गांव के लोग इस तरह से करीब 5-10 लीटर पेट्रोल स्टॉक करते हैं फिर इमरजेंसी पढ़ने पर 10 या 15 रुपये के कमीशन पर आपकी जरूरत को पूरा करते हैं। हांलाकि ऐसा करना गैरकानूनी है लेकिन जब आप इन सब समस्याओं से घिरते हैं तो या तो आप गाड़ी धकेलेंगे या इस तरह से पेट्रोल खरीदेंगे।

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/