रसोई गैस सिलेंडर

November से बदल जाएगा रसोई गैस सिलेंडर से जुड़ा ये बड़ा नियम

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश में 1 November से कुछ नियमों में बदलाव होने जा रहा है, जिसका सीधा असर आम आदमी के जीवन पर पड़ेगा। सबसे बड़ा बदलाव LPG यानी रसोई गैस सिलेंडर की डिलीवरी को लेकर है। इसी तरह देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के भी कुछ अहम नियमों में बदलाव होने जा रहा है।

  • रसोई गैस सिलेंडर की रिफलिंग के नए नियम के तहत अब उपभोक्ताओं को बिना ओटीपी के गैस सिलेंडर नहीं मिलेगा। उपभोक्ताओं को अब गैस सिलेंडरों की ऑनलाइन बुकिंग के साथ ही उसका भुगतान भी करना होगा।
  • भुगतान के बाद उपभोक्ता के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को उपभोक्ता तब दिखाएगा जब गैस एजेंसी का कर्मचारी आपके गैस सिलिंडर लेकर पहुंचेगा। जब तक आप उसे ओटीपी नहीं दिखाएंगे आपको सिलेंडर नहीं मिलेगा।(पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
  • इसी तरह 1 नवंबर को रसोई गैस के दामों में बदलाव होगा। केंद्र सरकार की नीति के तहत पेट्रोलियम कंपनियों हर महीने की पहली तारीख को रसोई गैस के दामों की समीक्षा करती हैं और नए दाम लागू होते हैं जो पूरे महीने के लिए रहते हैं।
  • उम्मीद की जा रही है कि इस बार भी रसोई गैस के दामों में अधिक बदलाव नहीं आएगा। हां, यह सवाल जरूर बना हुआ है कि क्या अधिक सबसिडी खाते में आएगी? दरअसल, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रसोई गैस के दाम इतने कम हो गए हैं कि सरकार को अब सबसिडी देने की जरूरत नहीं पड़ रही है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के भी कुछ अहम बदलाव

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के ग्राहकों के लिए बुरी खबर है। देश के सबसे बड़े इस बैंक ने 1 नवंबर से अपने सेविंग्स अकाउंट यानी बचत खातों पर ब्याज दर में बदलाव करने का ऐलान किया है।

SBI से जुड़ी सबसे बड़ी खबर यह है कि अब बचत खातों पर कम ब्याज मिलेगा। यह व्यवस्था 1 नवंबर से लागू होगी, जिसके बारे में पहली बार 9 अक्टूबर को बताया गया था।

अब 1 नवंबर से जिन सेविंग्स बैंक अकाउंट में 1 लाख रुपए तक की राशि जमा है उस पर ब्याज की दर 0.25 फीसदी घटकर 3.25 फीसदी रह जाएगी। वहीं 1 लाख रुपए से अधिक की जमा पर अब रेपो रेट के अनुसार ब्याज मिलेगा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।