Home » Third Wave of Covid-19: बच्चों को हो सकती हैं ये दिक्कतें, माता-पिता घर पर ही ऐसे करें कोरोना का इलाज

Third Wave of Covid-19: बच्चों को हो सकती हैं ये दिक्कतें, माता-पिता घर पर ही ऐसे करें कोरोना का इलाज

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Third Wave of Covid-19, How to protect your kids from Coronavirus: भारत में Corona Virus की तीसरी लहर ( Third Wave of Covid-19) बच्चों की जान पर भारी पड़ रही है। ऐसे में हमें बच्चों की ज्यादा से ज्यादा Care करनी चाहिए। वहीं बच्चों को Third Wave of Covid-19 से बचाने के लिए अभी कोई Corona Vaccine नहीं बनाई गई है। ऐसे में जानिए घर बैठे कैसे करें बच्चों की देखभाल।

आकंड़ों के अनुसार, पिछले साल 11 फीसदी बच्चे जानलेवा Covid का शिकार हुए थे

भारत में ( Third Wave of Covid-19) का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत की जनसंख्या में 35 फीसदी आबादी 18 साल से नीचे वाले बच्चों की है। आकंड़ों की माने तो पिछले साल 11 फीसदी बच्चे Covid का शिकार हुए थे। वहीं Corona की तीसरी लहर से बच्चों में Corona का खतरा बढ़ सकता है। Third Wave of Covid-19 की वजह से नवजात या छोटे बच्चे को भी सांस लेने में तकलीफ हो रही हैं।

कैसे करें बच्चों की Special Care

अब बच्चों में ( Third Wave of Covid-19) के अलग-अलग लक्षण दिख रहे हैं। Health Experts के मुताबिक, कोविड की तीसरी लहर में हमें बच्चों की Special Care करनी जरूरी है। बड़ों के लिए वैक्सीन आ चुकी है लेकिन मासूमों के लिए किसी भी देश में अब तक कोई टीका नहीं आया है।

Covid19 Vaccine लगवाने वाले दुनिया के सबसे पहले शख्स William Shakespeare की मौत कैसे हुई?

Health Minister Dr. Harsh Vardhan ने भी जताई चिंता

बता दें कि हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी कोविड से बड़ी संख्या में संक्रमित हो रहे बच्चों को लेकर चिंता जताई थी।

READ:  Covid: Rushing to crowded places increases chances of getting infected

Third Wave of Covid-19 के बच्चों में लक्षण

पहले बच्चों में खांसी होने के ही लक्षण देखे जा रहे थे। अब बच्चों में और भी कई तरह के लक्षण दिख रहे हैं। Experts के मुताबिक, इस बार Covid की तीसरी लहर (Third Wave of Covid-19 ) बच्चों में तेजी से फैल रही है। इसलिए बेहतर होगा अगर आप बच्चों को घर में रखें। उन्हें घर से बाहर न निकलने दें।

अगर आपके बच्चों में हैं ये लक्षण हैं तो हो जाइए सावधान

लंबे समय तक बुखार रहना

लूज मोशन यानी दस्त लगना

उल्टी आना और पेट में दर्द

बच्चे के हाथ-पैर में सूजन आ जाए

मासपेशियों में दर्द

सूखी खांसी

शरीर और पैर में लाल चकत्ते पड़ जाएं

होंठ लाल हो जाएं या फट जाएं

चेहरा नीला पड़ जाए

बच्चे में चिड़चिड़ापन दिखना

पहले की अपेक्षा ज्यादा सो रहा हो

Covid19 Third Wave: बच्चों को बचाने के लिए सरकार की क्या तैयारियां हैं?

Covid से बचने के लिए बच्चों को Breathing Exercise कराएं

बच्चे को गुब्बारा फुलाने के लिए दें, क्योंकि इससे उनके लंग्स मजबूत रहेंगे। जैसा कि आप जानते ही हैं कि कोविड लंग्स पर ही अटैक करता है। आजकल इंटरनेट पर भी आपको Breathing Exercise के तमाम वीडियो मिल जाएंगे। उन्हें देख आप खुद करें और बच्चों को भी ये एक्सरसाइज कराएं। इससे उनका ऑक्सीजन लेवल मजबूत होगा।

कैसी होनी चाहिए बच्चों की Diet

बच्चों को गुनगुना पानी पीने को दें । जिससे संक्रमण का खतरा कम होता है। उन्हें रात को सोने से पहले हल्दी वाला दूध दें, इससे Bacterial Infectiom और Viral Infection से लड़ने में मदद मिलती है। इसके साथ ही उन्हें Immunity बढ़ाने वाले फलों और सब्जियों का सेवन कराएं। उन्हें खट्टे फल जरूर खिलाएं।

READ:  Shav-Vahini Ganga: Parul Khakkar's poem and controversy

किन बातों पर दें माता पिता ध्यान

बच्चों में अगर कोई लक्षण दिखता है, तो उन्हें डॉक्टर के पास जाकर डॉक्टर की सलाह पर दवाई दें।

बच्चों को विटामिन डी और जिंक की दवा दें।

डॉक्टर के बिना किसी परामर्श के बच्चे का अपने से City Scan न कराएं।

ऐसे में बच्चे को घर पर अकेला न छोड़ें।

जो भी उसके साथ रहे वो Covid Protocol का पालन करे।

साथ ही बच्चे को भी बार बार हाथ धुलवाते रहें।

Covid के बारे में बच्चे से न करें कोई बात

अगर बच्चा Covid Positive है तो उसका हौसला बढ़ाएं। संक्रमित बच्चे से कोरोना से संबंधित कोई बातचीत न करें।
उसे कुछ अच्छी बातें करें। कोविड से अलग और दुनिया भर में क्या हो रहा है, इसकी सही जानकारी दें। उसे समझाएं कि हमे corona की guidelines का की तरीके से इस्तेमाल करना चाहिए । जिससे कोरोना से लडने में मदद मिलेगी।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।