Home » HOME » ये दो बैंक और आए मुसीबत में, जानें आपकी जमा पूंजी सुरक्षित या नहीं !

ये दो बैंक और आए मुसीबत में, जानें आपकी जमा पूंजी सुरक्षित या नहीं !

लक्ष्मी विलास बैंक
Sharing is Important

देश में पिछले कुछ समय से बैंकिग सेक्टर ज़बरदस्त संकट की चपेट से गुज़र रहा हैं। एक बार फिर दक्षिण भारत के लक्ष्मी विलास बैंक और महाराष्ट्र के मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक भी अब मुसीबत में घिर गए हैं । आइये जानते हैं कि किसी बैंक में आपका रखा कितना पैसा सुरक्षित है, यानी बैंक डूबने पर आपको कितनी रकम मिल सकती है?

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने लक्ष्मी विलास बैंक से निकासी पर अंकुश लगाते हुए कहा है कि उसके खाताधारक 16 दिसंबर तक अपने खातों से 25,000 रुपये से अधिक की निकासी नहीं कर पाएंगे। इसके एक दूसरे बैंक DBS Bank India में विलय का भी निर्णय लिया गया है। इसके अलावा महाराष्ट्र के जालना जिले में मंता अर्बन कोऑपरेटिव बैंक से निकासी पर भी रोक लगी है।

किसी बैंक के विफल होने पर 5 लाख रुपये तक की जमा राशि का बीमा कवर होता है। पहले यह सिर्फ 1 लाख था, लेकिन इस साल फरवरी में मोदी सरकार ने इसे बढ़ाकर 5 लाख किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल का बजट पेश करते समय इसका ऐलान किया ​था।

READ:  Check Policy Bazaar IPO allotment status, In simple steps

इस बीमा का मतलब यह है कि आप की बैंक में जमा राशि चाहे जितनी ही क्यों न हो आपको वापस सिर्फ 5 लाख रुपये ही मिलेंगे। यह पांच लाख रुपये वापस करने की गारंटी सरकार देती है।

Personal data from Muslim Pro app ‘is ending up with U.S. military’

अगर आपकी जमा रकम 5 लाख से कम है तो आपको अपनी पूरी जमा राशि वापस मिल जाएगी। यह गारंटी या बीमा कवर भारतीय रिजर्व बैंक की पूर्ण स्वामित्व वाली ईकाई जमा बीमा एवं ऋण गारंटी निगम (DICGC) प्रदान करती है।

देश के सभी बैंक, चाहे वह सार्वजनिक क्षेत्र के हों या निजी क्षेत्र के, सीधे आरबीआइ की निगरानी और नियमन से चलते हैं। केंद्र सरकार ने सहकारी बैंकों को भी अब रिजर्व बैंक के नियंत्रण के दायरे में ला दिया है। पहले इन पर राज्यों की सहकारी ​समितियों का नियंत्रण होता था।

READ:  Retail inflation rises marginally to 4.48% in October

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.