काढ़ा पीने के साइड-इफेक्ट

सावधान : इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा पीने से हो सकते हैं ये साइड-इफेक्ट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना के चलते कई सारे लोग हर दिन काढ़े पी रहे हैं ताकि उनका स्वास्थ बना रहें औऱ लोग बकायदा इसे अपनी डाइट में शामिल कर चुके हैं ताकि उनकी इम्यूनिटी अच्छी रही. काढ़ा पीने के कुछ बड़े नुकसान भी होते हैं, काढ़ा इम्यूनिटी (Immunity) को बूस्ट कर फ्लू या इंफेक्शन (Flu and infections) से लड़ने वाली टी-सेल्स जेनरेट करता है. डॉक्टर्स का कहना है कि काढ़ा पीने वाले अगर कुछ खास बातों पर ध्यान ना दें तो ये आपकी सेहत खराब भी कर सकता है. काढ़ा पीने के साइड-इफेक्ट भी हैं.

काढ़ा पीने के साइड-इफेक्ट

  • यदि आप काढ़े का रेगुलर इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो उसे कम मात्रा में लेना ही सही होगा. काढ़ा बनाते वक्त बर्तन में सिर्फ 100 मिलीलीटर पानी डालें. फिर जरूरी चीजों को मिलाने के बाद उसे तब तक उबालें जब तक काढ़ा 50 मिलीलीटर यानी आधा ना हो जाए.
  • सर्दी या जुकाम से परेशान लोगों के लिए काढ़ा बड़ा फायदेमंद माना जाता है. हालांकि कुछ लोगों को इसमें बड़ी सतर्कता बरतनी चाहिए. खासतौर से उन लोगों को जिन्हें पित्त की शिकायत है. इन लोगों को काढ़े में काली मिर्च, सोंठ और दालचीनी का इस्तेमाल करते वक्त सावधानी बरतनी चाहिए.
  • काढ़ा बनाने में अक्सर लोग काली मिर्च, दालचीनी, हल्दी, गिलोय, अश्वगंधा, इलायची और सोंठ का इस्तेमाल करते हैं. ये सभी चीजें आपके शरीर को काफी गर्म कर देती हैं. शरीर का तापमान अचानक बढ़ने से नाक से खून या एसिडिटी जैसी समस्याएं हो सकती हैं.
  • काढ़ा बनाने के लिए आप जिन चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनकी मात्रा में संतुलन होना जरूरी है. अगर काढ़ा पीने से आपको कोई परेशानी हो रही है तो उसमें दालचीनी, काली मिर्च, अश्वगंधा और सोंठ की मात्रा कम ही रखें.
  • रेगुलर काढ़ा (Kadha) पीने वाले कमजोर स्वास्थ के लोगों को कई बड़ी दिक्कत हो सकती हैं.नाक से खून, मुंह छाले, एसिडिटी, पेशाब आने में समस्या और डाइजेशन की समस्या आपको घेर सकती है. ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

शिवराज-सिंधिया के साथ आने से क्या आसानी जीत पाएगी बीजेपी?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।