Home » ताजमहल को शिव मंदिर ‘तेजो महालय’ बता भगवा झंडा फहराने वाले कौन हैं?

ताजमहल को शिव मंदिर ‘तेजो महालय’ बता भगवा झंडा फहराने वाले कौन हैं?

Taj Mahal a Shiva temple 'Tejo Mahalaya', Hindu Jagran Manch hoisted saffron flags in tajmahal premises tajmahal: hindu yuva vahini workers hoists saffron in taj mahal and shouts slogansof-jai shri ram har har mahadev
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

(Taj Mahal a Shiva temple ‘Tejo Mahalaya’, Hindu Jagran Manch hoisted saffron flags in tajmahal premises) ताजमहल शिव मंदिर तेजोमहालय: ताजमहल परिसर में सोमवार को हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने भगवा रंग का झंडा फहराया। हिन्दू जागरण मंच, हिन्दू युवा वाहिनी सहित कई अन्य हिन्दू संगठन ये दावा करते आए हैं कि दुनिया के सात अजूबों में से एक और प्रेम का प्रतिक भगवान शिव का मंदिर तेजोमहालय है। यही कारण है कि बीते कुछ वर्षों ताजमहल विवादों के चलते चर्चा का केंद्र बन गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, ताजमहल को भगवान शिव का मंदिर तेजोमहालय बता भगवा झंडा फहराने वाले लोग हिन्दू जागरण मंच से जुड़े हैं। संगठन के युवा विंग के जिला अध्यक्ष सहित 4 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किया है। वहीं इस पूरी घटना का एक वीडियो भी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। (Taj Mahal a Shiva temple ‘Tejo Mahalaya’, Hindu Jagran Manch hoisted saffron flags in tajmahal premises)

ताजमहल को शिव मंदिर तेजोमहालय बातने वाले लोग कौन हैं
इस घटना के दो अलग-अलग वीडियो बनाए गए हैं। एक 15 और दूसरा 23 सेकंड का वीडियो है। वायरल हो रहे इस वीडियो में दिखाई दे रहे 4 शख्स में से एक की पहचान हिन्दू जागरण मंच के जिला अध्यक्ष के रूप में की गई है। इसका नाम गौरव बताया जा रहा है। वहीं इसके अलावा इसके अन्य साथी ऋषि, सोनू बघेल, और विशेष कुमार भी झंडा लहराते हुए दिख रहे हैं। (Taj Mahal a Shiva temple ‘Tejo Mahalaya’, Hindu Jagran Manch hoisted saffron flags in tajmahal premises) (ताजमहल शिव मंदिर तेजोमहालय)

READ:  Chinese army not retreating, Indian army will deploy heavy weapons

ताजमहल में फहराया भगवा झंडा, परिसर में गूंजे जय श्री राम के नारे

पुलिस ने अपने बयान में क्या कहा-
वहीं पुलिस की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि, आईपीसी की धारा 153A और धारा 7 आपराधिक कानून संशोधन अधिनियम के अंतर्गत CISF के द्वारा ताजगंज पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ केस दर्ज कर करवाई की गई है। वहीं दूसरी ओर जब इस बारे में सीआईएसफ के कमांडर राहुल यादव से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इन चारों ने काउंटर से टिकट खरीदे फिर जानबूझकर केसर रंग का झंडा लहराने लगे ताकि यूट्यूब पर इनकी लोकप्रियता और फॉलोअर्स बढ़े।

सीआईएसएफ ने क्या कहा-
उन्होंने बताया कि सुरक्षाकर्मी द्वारा ताजमहल के परिसर में आने से पहले मेटल डिटेक्टर द्वारा तलाशी ली जाती है, लेकिन एक कपड़े के टुकड़ा का पता नहीं लगाया जा सकता है और सेल्फी स्टिक ले जाने की अनुमति है। जिसका इस्तेमाल उन लोगों ने झंडा लहराने में किया था। बीते वर्ष भी यहां ताजमहल परिसर में कुछ गतिविधियां देखने को मिली थी। हम परिसर के भीतर के वातावरण को खराब नहीं करना चाहते हैं इसलिए हमने उनके खिलाफ केस दर्ज करवाया है।

किसानों ने बैठक में फाड़ा संशोधन, बिल वापस लेने तक जारी रहेगा किसान आंदोलन

READ:  Global Handwashing Day 2021: ऐसे हुई शुरुआत, यही है कोरोना जैसी बीमारी से भी बचने का इलाज

इससे पहले भी ताजमहल में फहराया जा चुका है भगवा ध्वज-
बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब हिन्दू संगठनों द्वारा ताजमहल परिसर में भगवा झंडा फहराया गया हो। इससे पहले भी ताजमहल को भगवान शिव का मंदिर तेजोमहालय बता यहां भगवा झंडा और नारे लगाए जा चुके हैं। बीते वर्ष 25 अक्टूबर 2020 को भी हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने ताजमहल परिसर के अंदर गंगाजल छिड़क इसकी शुद्धि करने की कोशिश और इस दौरान भगवा झंडा भी लहराया गया था। इस दौरान यह भी दावा किया गया था कि वे लोग पूजा करने “तेजो महालय” में आए थे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।