Skip to content
Home » व्यंग्य

व्यंग्य

मैने ओला-उबर लेना बंद कर दिया है, अब देश की माली हालत ठीक हो जाएगी

व्यंग्य | कार्तिक सागर समाधिया हिंदी दिवस की शुभकामनाएं। शुभकामनाएं तो मैंने 15 अगस्त की भी दी। बादलों के सिवा सूरज नहीं। चन्दा मामा ने… Read More »मैने ओला-उबर लेना बंद कर दिया है, अब देश की माली हालत ठीक हो जाएगी