Home » झारखंड में पीट-पीट मारे गए तबरेज़ अंसारी की हत्या के मामले के सभी छह आरोपियों को मिली ज़मानत

झारखंड में पीट-पीट मारे गए तबरेज़ अंसारी की हत्या के मामले के सभी छह आरोपियों को मिली ज़मानत

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

झारखंड के सरायकेला में चोरी के आरोप में भीड़ द्वारा पीट-पीट मारे गए तबरेज अंसारी की हत्या मामले में छह आरोपियों को मंगलवार को उच्च न्यायालय से जमानत मिल गयी। झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति आर मुखोपाध्याय की पीठ ने भीमसेन मंडल, चामू नायक, महेश महली, सत्यनारायण नायक, मदन नायक, विक्रम मंडल को इस मामले में छह माह बाद जमानत दी। सभी आरोपियों ने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दाखिल की थी।

इस मामले की सुनवाई के दौरान आरोपियों के वकील एके साहनी ने पीठ को बताया कि तबरेज अंसारी मामले में इनका नाम एफआईआर में नहीं है और नामजद आरोपी पप्पू मंडल ने भी पुलिस को दिए अपने बयान में इनका नाम नहीं लिया है।

दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने छह आरोपियों को जमानत दे दी। भीड़ की हिंसा के इस मामले में तबरेज की पत्नी एस परवीन ने प्राथमिकी दर्ज कराई, जिसमें आरोप है कि तबरेज को भीड़ ने एक खंभे से बांधकर उसकी पिटाई की थी। इसकी वजह से उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

READ:  Agra: अस्पताल में ऑक्सिजन की मॉकड्रिल से 5 मिनट में 22 कोरोना मरीजों की मौत

द वायर  के हवाले से ख़बर है कि इस मामले में पुलिस की भूमिका शुरुआत से ही सवालों के घेरे में रही। जब अंसारी को हिरासत में लिया गया तो पुलिस ने उन पर हमला करने वाले लोगों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया। तबरेज अंसारी की मौत के बाद उनकी पत्नी की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने उस समय कहा था कि सरायकेला-खरसावां जिले में 17 जून को तबरेज अंसारी और उसके दो सहयोगियों ने कथित तौर पर चोरी के इरादे से एक घर में घुसने की कोशिश की थी, जिसके बाद अंसारी को पकड़ककर भीड़ ने बेरहमी से पीटा था । पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस अगली सुबह घटनास्थल पर पहुंची और ग्रामीणों की शिकायत के आधार पर अंसारी को जेल ले गई।

उन्होंने कहा कि जेल में अंसारी की तबियत बिगड़ने पर उन्हें सरायकेला-खरसावां जिले के सदर अस्पताल ले जाया गया, बाद में तबियत बिगड़ने पर उसे जमशेदपुर के टाटा मेन हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां 22 जून को अंसारी की मौत हो गई। आरोपियों के वकील ने पीठ को बताया कि ऐसे में यह हिरासत में हुई मौत का मामला है। इसलिए आरोपियों को जमानत मिलनी चाहिए।

READ:  मानसिक तनाव(Mental Stress) से बचाने वाले योगासन(Yoga Asana)