Sushant Singh Rajput Life Journey: बॉलीवुड का वो सितारा जो अब सिर्फ ‘अर्श पर ही चमकेगा’!

सुशांत सिंह राजपूत केस
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई के बांद्रा स्थित अपने आवास पर सुसाइड कर लिया है। इस खबर से हर कोई सन्न है। इस खबर के सामने आने के बाद हर शख्स सुशांत के बारे में और ज्यादा जानना चाहता है। हम आपको सुशांत सिंह के जन्म से लेकर और उनके बिहार से बॉलीवुड तक के सफर को विस्तार से बता रहे हैं। पढ़े और समझें कि कैसे एक युवा बिहार से मुंबई में कदम रखता है और तमाम परेशानियों और संघर्षों के सफल फिल्म अभिनेता बनता है।

सुशांत सिंह का जन्म 21 जनवरी 1986 को बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। सुशांत के पिता के.के. सिंह, सरकारी अफसर का कार्यभार निभा चुके हैं, बहन मीतू सिंह राज्य स्तर की क्रिकेटर हैं। दुर्भाग्यवश, साल 2002 में सुशांत को अपनी माँ को अलविदा कहना पड़ा। सुशांत ने सेंट कैरेन हाई स्कूल, पटना और कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल, दिल्ली से अपनी शिक्षा हासिल की। इसके बाद सुशांत सिंह ने साल 2003 में डीसीई (Delhi College of Engineering ) की एंट्रेंस परीक्षा में 7वां पद हासिल किया और मैकेनिकल इंजीनियरिंग में दाखिला लिया।

सुशांत सिंह जब अपनी कॉलेज की पढ़ाई कर रहे थे, उस दौरान उनकी दिलचस्पी डांस में बढ़ने लगी और उन्होंने डांस सीखने का निर्णय लिया, लेकिन इस फैसले से उनका परिवार बिलकुल खुश नहीं था। अपने परिवार की बिना किसी सहमति के ही उन्होंने शामक डावर के डांस ग्रुप को ज्वाइन कर लिया। कुछ समय बाद शामक ने सुशांत की डांस के प्रति रूचि और जूनून से प्रभावित हो कर उन्हें साल 2005 में हुए फिल्म फेयर अवार्ड्स में बैकग्राउंड डांसर के रूप में चुना था।

इसके बाद शामक डावर ने सुशांत को साल 2006 में हुए कॉमन वेल्थ गेम्स ( Commonwealth Games ) के उद्धघाटन समारोह में परफॉर्म करने का अवसर दिया, जिसके बाद सुशांत मुंबई आ गए और प्रसिद्ध कोरियोग्राफर, ऐश्ले लोबो के साथ काम किया। उनकी डांस क्लासेज के दौरान कुछ लोगों की रूचि एक्टिंग में थी और एक्टर बैरी जॉन की ड्रामा क्लासेज ले रहे थे। तभी सुशांत ने एक्टिंग को अपना करियर बनाने के बारे में सोचा और उन्होंने भी ड्रामा क्लासेज लेना शुरू कर दिया। कुछ समय बाद उन्होंने इंजीनियरिंग छोड़ दी और अपना पूरा समय एक्टिंग और डांसिंग को देने लगे।

फिल्मों में अपना करियर बनाने के लिए उन्होंने नादिरा बब्बर के थिएटर ग्रुप को ज्वाइन किया और करीब 2.5 साल तक उनके साथ काम किया। इस समय वह नेस्ले मंच के टीवी प्रचार में दिखाई दिए और पुरे भारत में प्रसिद्ध हुए ।

टेलीविज़न करियर (2008-12)
साल 2008 में बालाजी टेलीफिल्म्स के धारावाहिक ‘किस देश में है मेरा दिल’ के प्रीत जुनेजा का किरदार निभाया हालांकि शो में उनके इस किरदार की मृत्यु काफी जल्दी हो गई थी, लेकिन उनका किरदार दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय रहा जिसके कारण उनकी शो में फिर से एंट्री हुई।जून 2009 में उन्होंने ज़ी टीवी के सीरियल ‘पवित्र रिश्ता’ में मानव देशमुख का किरदार निभाया। इस किरदार के लिए उन्हें काफी सराहना मिली और सुशांत टीवी का जाना माना नाम बन गए।उनके फिल्म में करियर बनाने में इस किरदार ने एक एहम भूमिका निभाई।मई 2010 में उन्होंने डांस शो, ‘ज़रा नचके दिखा’ में भाग लिया और अपनी डांस की प्रतिभा का प्रदर्शन किया।दिसंबर 2010 में उन्होंने एक और डांस रियलिटी शो, ‘झलक दिखला जा-4 ‘ में भाग लिया और अक्टूबर 2011 में उन्होंने पवित्र रिश्ता को अलविदा कह कर, विदेश में फिल्म-मेकिंग का कोर्स किया ।

फिल्मी करियर (2013 से 2020)
साल 2013 में अभिषेक कपूर की ‘काई पो छे’ में सुशांत ने मुख्य भूमिका निभाई, यह फिल्म चेतन भगत की ‘3 मिस्टेक्स ऑफ़ माय लाइफ’ पर आधारित थी। जिसके बाद वह शुद्ध देसी रोमांस , पीके, एम. एस. धोनी – द अनटोल्ड स्टोरी , डिटेक्टिव ब्योमकेश बक्शी, राब्ता, केदारनाथ, छिछोरे, सोंचिडिया, ड्राइव जैसी कई हिट फिल्मों में दिखाई दिए। सुशांत सिंह राजपूत की फिल्में अच्छा प्रदर्शन करती रहीं और उनकी अदाकारी की प्रतिभा की लोग सराहना करते रहे। ख़बरों के अनुसार उनकी 2 फिल्में, दिल बेचारा और पानी, 2020 में रिलीज़ होने वाली थीं। साल 2016 में क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर बनी फिल्म एम. एस. धोनी उनके जीवन की सबसे लोकप्रिय फिल्म रही।

निजी ज़िन्दगी
सुशांत सिंह सह कलाकार, अंकिता लोखंडे के साथ 6 साल तक प्रेम संबंध में रहे, जिसे उन्होंने 2016 में खत्म कर दिया था। उनके करीबी दोस्तों के मुताबिक, सुशांत निजी जीवन के मामले में अन्य से थोड़े इंट्रोवर्ट थे। वे दूसरों का हालचाल बेहतर पूछते थे लेकिन अपने बारे में वे बहुत कम बात किया करते थे।

बांद्रा स्थित आवास पर आत्महत्या
14 जून 2020 को महज 34 वर्ष की उम्र में सुशांत सिंह राजपूत दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने अज्ञात और गंभीर परिस्थियों में आत्महत्या कर ली। मुंबई पुलिस उनकी आत्महत्या की गुत्थी सुलाझाने में लगी हुई है। पुलिस को मौका-ए-वारदात से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। कहा जा रहा है कि सुशांत पिछले कई महीनों से डिप्रेशन से जूझ रहे थे। ऐसे में कई चौकाने वाले सवाल पैदा होते हैं कि इतना काबिलि एक्टर, युवा और सफलता की बुलंदियों पर बैठा एक युवा सितारा क्यों अंदर से इतना खाली रह गया।

माँ के नाम आखरी संदेश
करीबियों का कहना है कि सुशांत अक्सर अपनी माँ को याद कर भावुक हो जाते थे। यही कारण है कि बीती 3 जून को उन्होंने एक पोस्ट किया था जिसमें सिर्फ उन्होंने अपनी माँ का जिक्र किया था। सुशांत सिंह ने आखरी बार 3 जून को पोस्ट किया था। उन्होंने अपने साथ अपनी मां की एक तस्वीर लगाई थी। इसके साथ लिखा था, धुंधला अतीत आंखों के आंसू से गायब हो रहा है। पूरे न हुए सपने खुशियां और ला रहे हैं। वहीं एक जल्द बीतने वाली जिंदगी दोनों के बीच सौदेबाजी कर रही। #मां’ ये उनका लास्ट पोस्ट साबित हुआ। सुशांत के इस पोस्ट के क्या मायने थे शायद कोई समझ पाता।