सुशांत सिंह राजपूत केस

सुशांत सिंह राजपूत केस: क्या CBI जांच से खुल जाएंगे रहस्य?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत केस की सीबीआई जांच का आदेश दे दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह मौत के केस की जांच सीबीआई से कराने की बिहार सरकार की सिफारिश को सही ठहराया। मुंबई पुलिस की जांच पर सुप्रीम कोर्ट ने कोई सवाल नहीं उठाया हालांकि यह ज़रुर कहा कि बिहार पुलिस के काम में अड़ंगा डालने की वजह से इस केस में संदेह पैदा हुआ, मुंबई पुलिस को जांच में सहयोग करना चाहिए था। दो राज्यों के बीच मामला फंसने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह केस सीबीआई को देने का फैसला किया है। आदेश में जज ने सत्यमेव जयते भी लिखा है।

सुशांत सिंह राजपूत केस में अब आगे क्या?

01

लोगों को सच सामने आने का इंतज़ार

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में लिखा, ‘सुशांत सिंह राजपूत एक टैलंटेड ऐक्टर थे और उनकी पूरी काबिलियत का पता चलने से पहले ही उनकी मौत हो गई। काफी लोग इस केस की जांच के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, इसलिए कयासों को रोकना होगा। इसलिए इस मामले में निष्पक्ष, पर्याप्त और तटस्थ जांच समय की जरूरत है।’

02

मुंबई पुलिस करे जांच में सहयोग

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बिहार सरकार मामले को जांच के लिए सीबीआई के पास भेजने के लिए सक्षम है और भारतीय दंड संहिता की धारा 174 (आत्महत्या की जांच) के तहत जांच कर रही मुंबई पुलिस का अधिकार क्षेत्र सीमित है। मुंबई पुलिस को सीबीआई जांच में सहयोग करना होगा। साथ ही कोर्ट ने यह स्पष्ट किया कि मुंबई पुलिस द्वारा केस से जुड़े सभी महत्वूर्ण दस्तावेज सीबीआई को सौंपे जाएंगे।

03

सीबीआई नए सिरे से करेगा जांच

सीबीआई को महाराष्ट्र सरकार से जांच की इजाजत नहीं लेनी होगी। सीबीआई चाहे बिहार से लेकर मुंबई तक किसी से भी पूछताछ कर सकती है। बिहार पुलिस को जिन बाधाओं का सामना करना पड़ा, सीबीआई को यह नहीं झेलना पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद सीबीआई सुशांत सिंह मौत मामले की नए सिरे से जांच करेगी। हालांकि, मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस द्वारा अब तक जांच किए गए दस्तावेजों का भी मुआयना करेगी। सीबीआई घटनास्थल पर जाएगी और हर गवाह से पूछताछ करेगी। 

04

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से किसे लगा झटका

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद महाराष्ट्र सरकार की किरकिरी हो गई है। वहीं बिहार सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है। मुंबई पुलिस और रिया चक्रवर्ती को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस शुरू से ही सीबीआई जांच का विरोध कर रही थी, वहीं रिया पटना में दर्ज एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करवाना चाहती थीं। 

05

कैसे सुशांत सिंह केस बन गया राजनीतिक मामला

सुशांत सिंह राजपूत मूल रुप से बिहार के रहने वाले हैं। मुंबई में उन्होंने आत्महत्या की। महाराष्ट्र पुलिस ने इस मामले में किसी भी साजिश से इंकार किया। मीडिया ट्रायल की वजह से इस मामले में कई सवाल खड़े होना शुरु हो गए। जब सुशांत के पिता ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की और आपराधिक साजिश का अंदेशा जताया तो बिहार सरकार इसमें एक्टिव हो गई। जब बिहार पुलिस जांच करने मुंबई पहुंची तो मुंबई पुलिस ने सहयोग नहीं किया। बिहार की राजनीतिक पार्टियों ने जनभावना को देखते हुए इस मामले को सीबीआई को सौंपने की मांग की लेकिन महाराष्ट्र सरकार इस बात को नकारती रही। फिर इस मामले में महाराष्ट्र के नेताओं के नाम उछाले जाने लगे । धीरे-धीरे यह केस राजनीतिक होता चला गया।

ALSO READ: ‘Dil Bechara’ Sushant’s last film streaming on Disney Hotstar

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर किसने क्या कहा-


NDTV से बात करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने यह बात साफ कर दी कि अब लोगों को न्याय मिलेगा. बिहार पुलिस ने जो भी काम शुरू किया था, वह कतई विधिसम्मत था.’ उन्होंने कहा कि आगे बिहार सरकार जहां भी जरूरत होगी, पूरा सहयोग करेगी.’ 

-नीतीश कुमार, सीएम बिहार


सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का मैं स्वागत करता हूँ।जाँच सीबीआई से हो यह सबकी माँग थी अब जब सीबीआई जाँच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दे दिया है तो यह जीत #Sushantsinghrajput के करोड़ों प्रशंसको के साथ उनके पिता व परिवार की है।मुझे विश्वास है की अब जल्द सीबीआई सभी पहलू पर काम करेगी।

-चिराग पासवान


सबसे पहले सुशांत केस में हमने सड़क से लेकर सदन तक सीबीआई जाँच की माँग की थी और उसी का परिणाम था कि 40 दिनों से सोई बिहार सरकार को कुंभकर्णी नींद से जागना पड़ा था। आशा है एक तय समय सीमा के अंदर न्याय मिलेगा।

-तेजस्वी यादव

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups