Home » दक्षिण अफ्रीका के शहरों में पानी की किल्लत से जूझ रहे लोग

दक्षिण अफ्रीका के शहरों में पानी की किल्लत से जूझ रहे लोग

South Africa
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

South Africa: दक्षिण अफ्रीका(South Africa) का केपटाउन शहर जल्द ही आधुनिक दुनिया का पहला ऐसा बड़ा शहर बनने जा रहा है, जहां पीने के पानी की भारी कमी होने वाली है। आने वाले कुछ सप्ताहों में यहां रहने वाले लोगों को पीने का पानी नहीं मिलेगा। लेकिन दक्षिण अफ़्रीका(South Africa) का ये सूखाग्रस्त शहर, इस तरह की समस्या का सामना करने वाला पहला शहर नहीं है। कई विशेषज्ञ पहले से पानी के संकट के बारे में चेतावनी देते रहे हैं।

पानी हमारे जीवन का हिस्सा क्यों हैं

आपको बता दे कि पानी के बिना हम एक पल भी नही रह सकते और अगर किसी शहर में पानी की कमी होती है तो वहां के आधे से ज्यादा लोग बिना पानी के ही मर जाते है, क्योंकि पानी हमारे जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। जो हमारे जीवन का हिस्सा कहलाता है। हर एक काम मे पानी का इस्तेमाल किया जाता है खाना बनाने में खाना खाने में नहाने धोने में हर छोटी सी छोटी जरूरतों को पूरा करता हैं पानी। अब बताइये जिस शहर में पानी की कमी उत्पन्न होती होगी उस शहर के लोग कैसे जीवित रहते होंगे। पानी को बचाइए और ज्यादा से ज्यादा फालतू जगह पर मत गिराइए क्योंकि एक तरफ से देखा जाए तो पानी आपकी जिंदगी है।

Anti-conversion laws for minorities: धर्म परिवर्तन विरोधी कानून अल्पसंख्यकों के लिए क्यों बना परेशानी का विषय?

भूमि में बचा है बस 3 फीसदी पानी

धरती की सतह पर 7 फ़ीसदी हिस्से में पानी भरा हुआ है। लेकिन ये समुद्री पानी है जो खारा है दुनिया में मीठा पानी केवल 3 फ़ीसदी है और ये इतना सुलभ नहीं है दुनिया में सौ करोड़ से अधिक लोगों को पीने का साफ़ पानी उपलब्ध नहीं है, जबकि 270 करोड़ लोगों को साल में एक महीने पीने का पानी नहीं मिलता है।

READ:  IND vs ENG W T20: हरलीन देओल ने बाउंड्री लाइन पर 'सुपरवुमेन' बन पकड़ा हैरतअंगेज कैच, हर कोई रह गया हैरान

जब दिखने लगे ये 7 लक्षण तो समझ जाइये हमारे शरीर मे पानी की कमी हो गई

चिकित्सा विज्ञान के अनुसार, हमारे शरीर का 30 प्रतिशत हिस्सा तरल है और बाकी 70 प्रतिशत में अस्थि और मज्जा शामिल है। यही वजह है कि जल को जीवन की संज्ञा दी गई है और जल को जीवन का हिस्सा बताया गया है क्योंकि मनुष्य बिना भोजन के कुछ समय रह सकता है लेकिन बिना पानी के रहना असंभव होता है। यानी जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है की जल हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण हैं। पानी तो हम सभी लोग पीते हैं लेकिन ज्यादातर लोग शरीर की जरूरत के अनुसार उचित मात्रा में पानी नहीं पीते हैं। यही कारण है कि हमारे समाज में बड़े स्तर पर सूखे की बीमारी से पीड़ित पेशेंट देखे जा सकते हैं। खासतौर पर गर्मी के मौसम में डिहाइड्रेशन के मरीजों की मानो बाढ़ आ जाती है।

अफगानिस्तान: 15 साल से बड़ी लड़कियों को सेक्स स्लैव बनाने की तैयारी में तालिबान, आतंकियों ने मौलवियों से मांगी लिस्ट!

वक्त रहते नहीं संभला भारत तो इन 30 शहरों पर खड़ा होगा ये बड़ा संकट

जल संकट आने वाले समय में दुनिया के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बन सकती है। वर्ल्ड वाइड फंड की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के 100 अति महत्वपूर्ण शहर में रहने वाले करीब 35 करोड़ लोगों को पानी की कमी का सामना करना पड़ सकता है। रिसर्च के मुताबिक अगर जलवायु परिवर्तन पर वैश्विक स्तर पर ध्यान नहीं दिया गया और उसे अनुकूल बनाने की तत्काल कोशिश नहीं की गई तो भारत के ही 30 से ज्यादा शहर भारी जल संकट का सामना करने को मजबूर होंगे भारत के जिन शहरों पर जल संकट का सबसे पहले प्रभाव पड़ेगा उसमें मुंबई, बेंगलुरु, कोलकाता, जयपुर, इंदौर, अमृतसर, पुणे, श्रीनगर समेत करीब 30 शहर शामिल हैं रिपोर्ट के मुताबिक 2050 तक जल संकट चरम पर पहुंच सकता है और इससे करोड़ों लोग बुरी तरह प्रभावित होंगे।

READ:  Afghanistan calls India a true friend and Modi a wise leader

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।