Home » HOME » बिहार : लालू प्रसाद यादव के कुछ रोचक क़िस्से

बिहार : लालू प्रसाद यादव के कुछ रोचक क़िस्से

लालू प्रसाद यादव
Sharing is Important

पटना विश्वविद्यालय के छात्र नेता से लेकर मुख्यमंत्री और फिर जेल में सज़ा काटने तक का सफर लालू प्रसाद यादव के रोमांचक राजनैतिक छलांग को साफ दर्शाता है । मात्र 29 वर्ष की आयु में लोक सभा के सांसद और फिर देश के रेलवे मंत्री बन जाने से उन्होंने पूरे देश में अपनी राजनीतिक बुद्धि का प्रमाण दिया । 

लालू प्रसाद यादव के कुछ रोचक किस्से / तथ्य :

1.  स्नातक / ग्रेजुएशन पूर्ण करने के बाद पटना के ही बिहार वेटरनरी कॉलेज में एक क्लर्क की नौकरी की

2. एल.एल.बी और पोलिटिकल साइंस में मास्टर्स की डिग्री के साथ साथ सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की मेम्बर भी है ।

3. अपनी बड़ी बेटी, मीसा भारती, का नाम उस कानून पे रखा जिसके की वजह से उन्हें आपातकाल के दौर में जेल हुई थी; मेंटेनेंस ऑफ इंटरनल सेक्युरिटी एक्ट

4. वर्ष 1990 में वर्ल्ड बैंक ने लालू प्रसाद और उनकी पार्टी के अर्थव्यवस्था के मूलो पे बेहतर काम के लिए तारीफ की थी ।

READ:  Bihar used Dalit students scholarship funds to build roads

5. गिरफ्तार होने के बाद इन्होंने अपनी पत्नी श्रीमती राबड़ी देवी को बिहार का मुख्यमंन्त्री बना दिया; अनपढ़ और राजनीति की कोई जानकारी न होने की वजह से उन्हें कई तरह की आलोचनाओ का शिकार होना पड़ा था ।

6. रेलवे मंत्री बनने के बाद घाटे में जा रहे मंत्रालय को कई गुना फायदा करवाने के बाद आई.आई.एम. अहमदाबाद, हारवर्ड बिज़नेस स्कूल और व्हार्टन बिज़नेस स्कूल में जाके छात्रों को लेक्चर भी दिए ।

7. वर्ष 2004 में अपने ही नाम पे बनी एक बॉलीवुड फ़िल्म में एक छोटा रोल भी अदा किया; पद्मश्री लालू प्रसाद यादव था फ़िल्म का नाम ।

8. इन्हें अपनी असल बर्थडे भी ज्ञात नही; बस लिखित तौर पे दर्ज तारीक को ही असल मानते है ।

9. 23 सितंबर 1990 को आडवाणी की रथ यात्रा जैसे ही बिहार पहुची उसे रोका और उन्हें गिरफ्त भी करवाया, जबकि आडवाणी उस वक़्त राष्ट्रीय स्तर पर बहुत बड़े नेता थे ।

READ:  Bihar used Dalit students scholarship funds to build roads

10. सुशील कुमार मोदी और रविशंकर प्रसाद जो की 1973 में पटना विश्वविद्यालय के जनरल सेक्रेटरी और जॉइंट सेक्रेटरी थे उनके साथ मिलकर यूनियन के अध्यक्षता का चुनाव जीते ।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.