NRC Protest : उत्तर प्रदेश में हालात बेकाबू हुए तो भारतीय सेना संभालेगी मोर्चा?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नेहाल रिज़वी, कानपुर: नागरिकता संशोधन क़ानून(Citizendship Amendment Act) के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के बाद कानपुर में जम कर बवाल हुआ! बाबूपुरवा के बेगम पुरवा इलाके में सबसे ज़्यादा हिंसात्मक प्रदर्शन हुआ। आगज़नी, पथराव और गोलीबारी में 12 लोगों को गोली लगी है। दो लोगों की गोली लगने से अब तक मौत हो चुकी है। इस हिंसक प्रदर्शन में दो सीओ, दो दरोगा समेत सात पुलिस कर्मी भी घायल हूए हैं। शहर में 24 घंटे और बंद रहेंगी इंटरनेट सेवा, साथ ही ब्राडबैंड सेवा भी बाधित रहेगी। पुलिस ने अब तक 50 लोगों को गिरफ़्तार किया है।

शहर में बढ़ते तनाव को देखते हुए HBTI में 21-22 दिसंबर को होने वाली बी-टेक की सेमेस्टर परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। कल 1:15 बजे बेगम पुरवा में नमाज़ ख़त्म होने के बाद लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया था। लगभग 1 घंटे बाद 2 बजे के करीब लोग उग्र हो गए और पथराव और आगज़नी शुरू कर दी। शाम तक ये बवाल चलता ही रह। जुलूस और बवाल का वीडियो बना रहे पत्रकारों और आम लोगों के मोबाइल छीन कर तोड़ दिए गए या जबरन विडीओज़ डिलीट करवा दोए गए! शहर के माहौल को देखते हुए शनिवार को भी इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से बाधित रहेंगी। बवाल के चलते गुरुवार को ही शहर में ज़ोन सेक्टर स्कीम लागू कर दी गयी थी, लेकिन मौजूदा हालातों को देखते 6 सुपर ज़ोन भी बनाए बनाय गए हैं। इन जोनों की ज़िम्मेदारी पुलिस में एसएसपी स्तर के अधिकारियों को सौंपी गयी है।

READ:  मध्य प्रदेश उपचुनाव: शिवराज ने कसा कांग्रेस पर शिकंजा, सीबीआई बढ़ा सकती है दिग्विजय की टेंशन!

आईजी मोहित अग्रवाल ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि कानपुर की संवेदनशीलता को देखते हुए पहले से ही 6 कंपनी पीएसी , दो कंपनी पीएसी, दो कंपनी RAF फोर्स तैनात थी। मगर अब मौजूदा हालात को देखते हुए शासन ने एक डीआईजी और एक एसपी भेजने का फैसला लिया है। इसके साथ ही दो कंपनी पीएसी और दो कंपनी RAF भी बढ़ा दी गयी है। कानपुर बढ़ते बवाल को देखते हुए स्कूल कालेज आज भी बंद रहेंगे। नर्सरी से 12वीं तक से स्कूल-कालेज शनिवार को बंद रहेंगे। साथ ही साथ पुलिस भर्ती की शारीरिक मानक परीक्षा भी रद कर दी गयी है।

READ:  Journalist Shot Dead in UP, Police Arrests Eight

पुलिस प्रशासन के कहना है अगर ज़रूरत पड़ी तो सेना भी लगाई जा सकती है। 15 हज़ार से ज़्यादा लोगों पर दर्ज हुए हैं मुक़दमें! तोड़फोड़, बलवा , 7 क्रिमिनल लॉ व हत्या के मामले दर्ज किए गए हैं। शुक्रवार को देर रात तक पुलिस ने बाबू पुरवा , चमनगंज , बेकनगंज , ग्वालटोली, कर्नलगंज, कोतवाली अनवरगंज ,फीलखाना और नौबस्ता थाने में 15 हज़ार से ज़्यादा मुक़दमें दर्ज किए गए हैं। इसमें धारा 144 का उलंघन, तोड़फोड़ , सरकारी संपत्ति को नुक़सान पहुंचना, लोगों का जीवन भय में डालना , हत्या का प्रयास करना और 7 क्रिमिनल लॉ अमेडमेंड एक्ट आदि धाराएं लगाई गयीं है।