क्या इस कार्टून के जरिए शिवसेना ने बहुत-कुछ कह दिया है?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

हरियाणा में जेजेपी से मिले समर्थन के बाद मनोहर लाल खट्टर का फिर से मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। साथ ही जेजेपी को उप मुख्यमंत्री का पद भी मिलने वाला है। लेकिन महाराष्ट्र में एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलने के बाद भी स्थिति साफ होती नहीं दिख रही। और इसकी वजह है शिवसेना जो महाराष्ट्र में 50-50 का फार्मूला लागू करने पर अड़ी हुई है। ज़ाहिर है महाराष्ट्र में कई जगह आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग वाले पोस्टर भी दिखाई देने लगे हैं। हाल ही में शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने ट्विटर पर दो कार्टून शेयर किये जिन्हे देखकर स्थिति लगभग साफ हो जाती है।

इस कार्टून में बाघ जो कि शिवसेना का प्रतीक है उसके हाथ में कमल का फूल है, जो कि भाजपा का चिन्ह है और साथ में बाघ के गले में घड़ी बंधी हुई है, जो कि एनसीपी का चुनाव चिन्ह है। इसका अर्थ है कि अगर भाजपा ने शिवसेना की मांगे नहीं मानी तो उनके पास और भी कई विकल्प खुले हुए हैं।

संजय राउत ने एक और ट्वीट शेयर किया जिसमें प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि पानी का ग्लास आधा पानी से भरा होता है और आधा हवा से भरा होता है। तो इसपर उद्धव ठाकरे कहते हैं कि ठीक है तो आप हवा वाला हिस्सा रख लो हम पानी वाला ऱख लेते हैं।

Courtesy @manjultoons

कहने को तो ये सिर्फ कार्टून है। लेकिन राजनीति के अखाड़ें में इशारों इशारों में कई बड़े संकेत दे दिए जाते हैं। यहां भाजपा और शिवसेना के बीच की तकरार साफ दिखाई पड़ती है। बालासाहब थोराट भी यह संकेत दे चुके हैं की वो शिवसेना की अगुवाई वाली सरकार को समर्थन देने के लिए तैयार हैं। लेकिन इतना तय है भाजपा और शिवसेना अपने घर का झगड़ा घर में ही सुलझा लेंगे और जल्द ही किसी ठोस फॉर्मुले वाली साझा सरकार हमारे सामने होगी, क्योंकि दोनो झगड़ते ज़रुर हैं लेकिन एक दूसरे के बिना सरकार चलाना सहज भी नहीं है।