देश के सबसे बड़े बैंक SBI से एक झटके में निकाले जाएंगे 30 हज़ार कर्मचारी

SBI ने बदले नियम : सेविंग अकाउंट वालों को मिली ये बड़ी छूट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश के सबसे बड़े बैंक सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। बैंक ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस पर लगने वाला चार्ज नहीं वसूलने का फैसला किया है। यानी अब अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि कम होने पर भी चार्ज नहीं लगेगा।

SBI ने बचत खाताधारकों से मासिक न्यूनतम राशि नहीं रखने पर भी (non-maintenance of monthly average balance) शुल्क नहीं लेगा। एसबीआई के 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों ये सुविधा मिलेगी. इस साल मार्च में, एसबीआई ने घोषणा की थी कि वह सभी बचत बैंक खातों के लिए औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता समाप्त कर दी है। इससे अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को जीरो बैलेंस की सुविधा मिलने लगेगी।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीजेपी की योजना जमीनी स्तर पर तय!

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को अब तक लगने वाला SMS अलर्ट चार्ज को फ्री कर दिया है। यानी लेन-देन की हर जानकारी ग्राहकों मुफ्त में SMS के जरिये मिलेगी। बैंक ने ट्वीट कर कहा कि अब SBI के सेविंग अकाउंटहोल्डर्स के लिए अच्छी खबर है। अब आपको एसएमएस सेवा और मासिक औसत बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर किसी तरह का शुल्क नहीं देना होगा।

इससे पहले एसबीआई ने मेट्रो शहरों में सेविंग अकाउंट पर 3,000 रुपये का मासिक बैलेंस मेंटेन तय किया था, जबकि सेमी-अर्बन शहरों के लिए यह सीमा 2,000 रुपये और ग्रामीण इलाकों के लिए 1,000 रुपये निर्धारित था। बैंक औसत मासिक बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर 5 रुपये से 15 रुपये तक का चार्ज वसूलता था।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups