Wed. Nov 13th, 2019

groundreport.in

News That Matters..

जंगल की कीमत पर विकास नहीं मंज़ूर, आरे फॉरेस्ट की पूरी कहानी

1 min read

जब ब्राज़ील के जंगलों में आग लगी तो सोशल मीडिया पर हर कोई पर्यावरण प्रेमी बन गया। जब हमारे घर में सरकार जंगलों पर आरा चला रही है तो हम घरों में चुप चाप सो रहे हैं। विश्व पटल पर खुद को पर्यावरण प्रेमी दिखाने वाले नेता हज़ारों पेड़ों की हत्या कर बनाए जाने वाले कंक्रीट भवनों का उद्घाटन कर रहे हैं।

 

ग्राउंड रिपोर्ट | पल्लव जैन

बच्चों से लेकर नौजवान तक, आम से लेकर खास तक, हर कोई चिंतित है मुंबई के आरे फॉरेस्ट के लिए। यह सिर्फ जंगल नहीं है, बल्कि एक उम्मीद है कांक्रीट बन चुकी मुम्बई में हरियाली के निशान बचाए रखने की।

Aarey forest Protest in Mumbai

पर्यावरण की कीमत पर मेट्रो रेल क्यों?

मुंबई मेट्रो का काम ज़ोरों पर है, कुछ चरणों में परिचालन शुरु हो चुका है। मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने मेट्रो कार शेड बनाने के लिए आरे कॉलोनी के 2700 पेड़ काटने की इजाज़त मांगी और बीएमसी ने बेहिचक इजाज़त दे दी।

PM Modi Inaugurated Metro Project

जब यह खबर लोगों में फैली तो हर कोई अपना काम छोड़ जुट गया इस जंगल को बचाने के लिए, इसमें मुंबई में रहने वाला बॉलीवुड भी पीछे नहीं रहा। लगातार
हो रहे विरोध प्रदर्शनों ने प्रशासन को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

Arey Forest Protest Near BMC

जब बीएमसी से लोगों ने सवाल किया की उन्होने पेड़ काटने की इजाज़त कैसे दे दी तो कई अधिकारियों ने और चौकाने वाला जवाब दिया की उन्हे इस बारे में पता नहीं था। मतलब की बिना सोचे समझे बीएमसी द्वारा आरे फॉरेस्ट पर आरा चलाने की इजाज़त दे दी गई।

आरे फारेस्ट का महत्व

आरे फॉरेस्ट मुंबई में बचे चुनिंदा हरे इलाकों में सबसे महत्वपूर्ण है। इसमें शहर का सबसे ज़्यादा घना हरित इलाका आता है, इसे काटने का मतलब होगा मुंबई में बाढ़ का खतरा बढ़ना।

Arey Forest Mumbai

एयरपोर्ट से सटे इलाके में बारिश के समय यह बाढ़ का सबब बन जाएगा। मुंबई पहले ही बाढ़ से बड़ी तबाही झेल चुका है। मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन द्वारा मेट्रो लाईन-6 के विकास के लिए आरे कॉलोनी की 29879 वर्ग फीट अतिरिक्त ज़मीन प्रदान करने की अनुमति मांगी गई है। जिसके तहत पेड़ों का काटा जाना तय किया गया है। जबकी 82 हेक्टेयर ज़मीन पहले ही एडमिन बिल्डिंग बनाने के लिए आवंटित कर दी गई है।

Human Chain formed in protest

विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि वे मेट्रो का विरोध नहीं करते लेकिन इस तरह धीरे-धीरे और ज़मीन मांगी जाएगी और आरे फॉरेस्ट पूरी तरह साफ़ हो जाएगा। सरकार को दूसरे विकल्प पर ध्यान देना चाहिए।

क्या कहना है मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने जंगल काटे जाने पर होने वाले पर्यावरण के नुकसान के सवाल पर कहा की मु्ंबई मेट्रो के विकास से वायू में कार्बन उत्सर्जन कम हो जाएगा, इतना कार्बन उत्सर्जन रोकने के लिए हमें दो करोड़ पेड़ों की ज़रुरत पड़ती। 2700 पेड़ की कीमत पर मेट्रो का विकास ज़्यादा फलदायी होगा।

Devendra Fadanvis with PM modi

सरकार इस मामले में झुकती नज़र नहीं आ रही है। पर्यावरण को लेकर हमारे नेता विश्व पटल पर अपनी चिंता जिस तरह ज़ाहिर करते हैं उससे लगता है कि वे कितने संवेदनशील हैं लेकिन ज़मीनी हकीकत कुछ और ही होती है। उत्तराखंड में बांध और चार धाम मार्ग बनाने के लिए की गई प्रकृति की तबाही हो या फिर आरे का उदाहरण तो ताज़ा ही है।

कथनी करनी में फर्क क्यों?

ब्राज़ील के जंगलों में जब आग लगी तो पूरी दुनिया समेत भारत नें भी चिंता ज़ाहिर की। हम बेचैन हो गए की आखिर पृथ्वी के फेफड़े माने जाने वाला यह जंगल बर्बाद हो गया तो क्या होगा। लेकिन हम अपने ही देश में जब अपनी सरकारों से लड़ने में अगर असमर्थ हैं तो विश्व तक हमारी आवाज़ कैसे पहुंचेगी। मुंबई का आरे फॉरेस्ट करीब 76 प्रकार की चिड़िया, 80 प्रकार की तितलियों और 16 प्रकार के जानवरों समेत 0.4 मिलियन पेड़ों का घर है। यहां पर कांक्रीट की भवन खड़े करने का मतलब होगा वन्यजीवों से उनका आसरा छीनना।

बॉलीवुड भी जुड़ा #SaveAreyForest मुहिम से

सेव आरे फोरेस्ट नाम से चलाई जा रही सोशल मीडिया मुहिम को भारी समर्थन मिला है। कई जानी मानी हस्तियों ने सरकार के इस कदम की आलोचना की है।

लता मंगेश्कर ने ट्वीट कर कहा की आरे फॉरेस्ट से 2700 पेड़ काटने से कई वन्यजीवों पर असर पड़ेगा यह कदम एक त्रासदी की तरह है। सरकार को इसपर
ध्यान देना चाहिए।

लाता मंगेशकर

अभिनेत्री श्रद्धा कपूर आरे फॉरेस्ट बचाने के लिए हो रहे विरोध में शामिल हुई।

Shraddha Kapoor in Protest

पर्यावरण को बचाना हमारा कर्तव्य है। सरकारों को विकास के लिए ऐसे प्लान बनाने होंगे जिससे पर्यावरण को हानि न हो। हमारा कल हमारे हाथ में है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copyright © All rights reserved. Newsphere by AF themes.