राज्यसभा और लोकसभा टीवी का मर्जर, नया चैनल Sansad TV होगा शुरु

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राज्यसभा सचिवालय ने सर्कुलर जारी कर बताया है कि लोकसभा और राज्यसभा टीवी का मर्जर कर दिया गया है। अब दोनों चैनलों का एकीकरण कर संसद टीवी (Sansad TV) शुरु किया जाएगा। इस कदम के पीछे सरकारी खर्च में कटौती करना वजह बताया जा रहा है।

Sansad TV में क्या होगा खास?

लोकसभा और राज्यसभा टीवी दो सरकारी चैनल थे जिनका काम संसद के दोनों सदन की चर्चाओं का सीधा प्रसारण करना था। इन चैनलों पर समसामयिक विषयों से जुड़े मुद्दों पर कार्यक्रम भी प्रसारित किये जाते थे।

दोनों चैनलों का एकीकरण कर अब एक नया चैनल Sansad TV अस्तित्व में आएगा जिस पर लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही का प्रसारण किया जा सकेगा। दोनों सदनों की लाइव कार्यवाही के सुचारू प्रसारण के लिए संसद टीवी के पास दो मंच या चैनल होंगे।

इसी नए प्लेटफॉर्म पर हिंदी और अंग्रेजी में करेंट अफेयर्स से जुड़े कार्यक्रम और समाचार प्रसारित किए जाएंगे।

अवकाश के दौरान अंग्रेजी और हिंदी में करंट अफेयर्स चैनल चलाने या सिर्फ एक चैनल को बंद करने और दूसरे पर प्रोग्राम चलाने का विकल्प होगा। 

ALSO READ: The abysmal state of Journalism & Law in India

रिटायर आईएएस अधिकारी रवि कपूर को अगले आदेश तक या एक साल के लिए संसद टीवी का चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ) बनाया गया है। 

यह योजना 2019 में प्रसार भारती के सीईओ सूर्य प्रकाश की अध्यक्षता में एक विशेषज्ञ समिति द्वारा प्रस्तावित की गई थी और इसका उद्देश्य लागत में कटौती करना, चैनल के प्रबंधन को सुव्यवस्थित करना और दर्शकों और विज्ञापनदाताओं के लिए इसे अधिक आकर्षक प्रोडक्ट बनाने के लिए सामग्री को फिर से जोड़ना है।

दोनों टीवी को मर्ज कर संसद टीवी बनाने से काफी पैसों की बचत होगी।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।