RRBNTPC: कट ऑफ देख क्यों आया छात्रों को गुस्सा? ‘कहा ये तो धोखा है’

RRBNTPC परीक्षाओं का रिजल्ट आज घोषित हुआ तो कट ऑफ मार्क्स देखकर छात्रों के होश उड़ गए। हर पद के लिए कट ऑफ 80-90 के पार निकल गया। छात्रों ने तुरंत ट्विटर पर इसकी शिकायत करना शुरु कर दी। कई छात्रों का कहना है कि इसमें रेलवे बोर्ड ने गलती की है तो कुछ का कहना है कि इसमें कोचिंग क्लास वालों की गलती है जिन्होंने छात्रों को बदले नियम से अवगत नहीं करवाया।

क्या कहते हैं छात्र जरा समझने की कोशिश करते हैं

अविजीत गोसावी लिखते हैं कि रेलवे ने तीन साल पहले एनटीपीसी RRBNTPC का नोटिफिकेशन जारी किया जिसमें लगभग 36 हज़ार वैकेंसी विभिन्न पदों के लिए था। और अब जाकर एग्ज़ाम हुआ और रिजल्ट जारी किया गया है।

करोंड़ों युवाओं के उम्मीदों व सपनों को महज चंद मिनटों में रेलवे बोर्ड ने एक पागलपन भरा रिजल्ट जारी कर रौंद दिया। करोड़ों युवा घर से दूर या घर पर ही विगत तीन वर्षों से रात दिन एक एक कर रणनीति बनाकर अपनी तैयारी में लगे हुए थे। और एक झटके में सबका दिमाग सन्न रह गया जब रिजल्ट में बहुत बड़ी गड़बड़ी हुई।

बोर्ड ने स्पष्ट लिखा था नोटिफिकेशन में की सीबीटी 1 सिर्फ क्वालिफाईंग है । इसमें 20 गुना अभ्यार्थियों का चयन किया जाएगा। और इस हिसाब से सभी ने कैलकुलेशन किया कि लगभग 7-8 लाख बच्चे सीबीटी 2 के लिए जाएंगे और ज़ाहिर सी बात है की कट ऑफ कम जाएगी। सभी ने अपनी रणनीति इसी हिसाब से बनाई और एग्ज़ाम दिया।

अब जब रिज़ल्ट जारी किया है तो गज़ब की गड़बड़ी है। मतलब एग्ज़ाम RRBNTPC सबका कॉमन लेकर रिजल्ट लेवल वाईज़ और वाईज़ जारी कर दिया। और तो और एक ही स्टूडेंट का रिजल्ट पांचो लेवल या एक से अधिक लेवल में आ गया। 20 गुना की बात करने वाले बोर्ड ने महज़ 4-5 गुना बच्चों को ही शॉर्टलिस्ट किया। जहां 10 बच्चे 1 पोस्ट के लिए फाईट करते अब 1 बच्चा 10 पोस्ट के लिए फाईट करेगा, मतलब मज़ाक नहीं तो क्या है।

रेलवे ने जो रिज़ल्ट जारी किया है वो एक बड़ा धोखा है अब अगर किसी छात्र ने 5 पोस्ट के लिए क्वालिफाई किया है तो वो नौकरी तो एक ही पोस्ट पर करेगा और बाकि के पद खाली रह जाएंगे। इस तरह बाकि के गरीब छात्रों की मेहनत बेकार हो जाएगी।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram, and Whatsapp. For suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com