Home » Breaking News: रिपब्लिक टीवी के CEO Vikas Khanchandani मुंबई में गिरफ़्तार

Breaking News: रिपब्लिक टीवी के CEO Vikas Khanchandani मुंबई में गिरफ़्तार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

TRP Scam: मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के सीईओ विकास खानचंदानी(Vikas Khanchandani) को गिरफ्तार कर लिया है। आज सुबह मुंबई में विकास खानचंदानी को TRP स्कैम (TRP Scam) के मामले में गिरफ्तार किया गया है। बहुचर्चित TRP स्कैम में अब तक कुल 13 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। यह गिरफ़्तारी अर्नब गोस्वामी की जेल से रिहाई के लगभग एक महीने बाद की गयी है।

किसान आंदोलन : किसानों की क्या हैं मुख्य मांगे ?

दरअसल मुंबई पुलिस ने 6 अक्टूबर को हंसा रिसर्च के अधिकारी नितिन देवकर की शिकायत पर FIR लिखी थी। जिसके बाद की कार्यवाही में मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के सीईओ को कथित TRP Scam के मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

क्या था पूरा मामला?

मुंबई पुलिस ने फर्जी तरीके से टीवी चैनलों की टीआरपी बढ़ाने वाले रैकेट के भंडाफोड़ का दावा किया था। पुलिस का दावा था कि ये चैनल रेटिंग मीटर वाले घरों में 400 से 500 रुपये देकर टीआरपी हासिल कर रहे थे। हालांकि, अर्नब गोस्वामी ने मुंबई पुलिस के आरोपों को झूठा बताया था। रिपब्लिक टीवी के अलावा मराठी चैनल्स बॉक्स सिनेमा और फक्त मराठी पर पैसा देकर टीआरपी हासिल करने का आरोप लगा है। इन दोनों चैनलों के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। तब तक मुंबई पुलिस कमिश्नर ने कहा था कि रिपब्लिक टीवी के डायरेक्टरों और प्रमोटरों की जांच फिलहाल नहीं हुई है। लेकिन अब जांच करने के बाद मुंबई पुलिस ने विकास खानचंदानी(Vikas Khanchandani) को गिरफ्तार किया गया है।

READ:  Karwa Chauth 2021: व्रत के दौरान बरतें ये सावधानियां, नहीं होगी पेट संबंधी समस्या

क्या होती है टीआरपी?

टीआरपी का मतलब होता है टेलिविज़न रेटिंग पॉईंट। इसके द्वारा किसी भी चैनल को देखने वालों की संख्या को मापा जाता है। इसके लिए टीआरपी मापने वाली एजेंसी द्वारा चुनिंदा घरों में मीटर लगाए जाते हैं, जो कितनी देर कौनसा चैनल देखा गया इसे रिकॉर्ड करता है। हर हफ्ते बार्क द्वारा यह रेटिंग जारी की जाती है जिससे पता चलता है कि कौनसा चैनल और प्रोगराम कैसा परफॉर्म कर रहा है। जिस चैनल की जितनी ज्यादा टीआरपी होती है उसे विज्ञापन के उतने ही ज्यादा पैसे मिलते हैं। इसीलिए टीआरपी की रेस में हमारे मीडिया चैनल पत्रकारिता के मूल्यों को खत्म करते हुए नज़र आते हैं।

READ:  ग्रामीण लड़कियों की आजादी की डोर बनी फुटबॉल

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।