Home » HOME » अयोध्या : लॉकडाउन के पहले दिन अस्थायी मंदिर में विराजमान रामलला

अयोध्या : लॉकडाउन के पहले दिन अस्थायी मंदिर में विराजमान रामलला

Sharing is Important

न्यूज़ डेस्क, ग्राउंड रिपोर्ट:
कोरोना की महामारी के चलते पूरे भारत में आज से 21 दिन का लॉक डाउन शुरू हो गया है। लॉकडाउन के पहले ही दिन अयोध्या (Ayodhya) में सालों से राम जन्मभूमि (Ramjanmbhumi) में विराजमान रामलला आज अस्थाई मंदिर में शिफ्ट किये गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने रामलला को टेंट से निकाल कर अपनी गोद में लेकर अस्थाई मंदिर के सिंहासन में विराजमान कराया। वैदिक मंत्रो के साथ अस्थाई मंदिर में रामलला सिहासन पर विराजित हुए।

बुधवार को सुबह पांच बजे के करीब अस्थाई मंदिर में रामलला को शिफ्ट किया गया। इस दौरान भगवान श्रीराम की आरती उतारी गई। रामलला के शिफ्टिंग के दौरान कोरोना से सतर्कता का भी ख्याल रखा गया। आरती व पूजन के बाद योगी गोरखपुर के लिए रवाना हो गए। रामलला का चांदी का यह सिंहासन 9.5 किलोग्राम का है। इस सिंहासन को जयपुर के कारीगरों ने बनाया है। इसके पृष्ठ पर सूर्य देव की आकृति और दो मोर हैं। रामलला इसी आकर्षक सिहासन पर विराजमान हुए।

READ:  दिल्ली से छत्तीसगढ़ जा रही दुर्ग एक्सप्रेस की 4 बोगियों में लगी आग, देखें वीडियो

यह भी पढ़े: Breaking News: PM मोदी ने की घोषणा, आज रात 12 बजे से पूरे देश में कंप्लीट लॉक डाउन

यह भी पढ़े: दिल्ली में कर्फ्यू के दौरान कोई नहीं रहेगा भूखा, केजरीवाल का ऐलान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला को 11 लाख रुपए दिए। मुख्यमंत्री श्री योगी ने रामजन्मभूमि ट्रस्ट के चंपत राय को 11 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री की ओर से प्रदान की गई धनराशि को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते में जमा कराया जाएगा। राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला की मूर्ती शिफ्ट करने के बाद योगी ने कहा कि प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या मंदिर निर्माण का आह्वान कर रही है और मंदिर निर्माण के मद्देनजर पहला चरण संपन्न हो गया है। मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम त्रिपाल से नए आसन पर विराजमान हो गए हैं।