UP : राम मंदिर ट्रस्ट में दान करने वालों को आयकर में छूट, अधिसूचना जारी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अयोध्या में बन रहे राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के लिए दान देने वाले लोगों को अब वित्तीय वर्ष 2020-21 से आयकर अधिनियम की धारा 80 जी के तहत कर में छूट दी जाएगी। इस ट्रस्ट की स्थापना पांच फरवरी को हुई थी। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने शुक्रवार को इस संबंध में अधिसूचना जारी की है।

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, शुक्रवार को जारी एक नोटिफिकेशन में केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ को आयकर अधिनियम की धारा 80G की उप-धारा (2) के खंड (ख) के तहत ‘ऐतिहासिक महत्व का और सार्वजनिक पूजा के महत्वपूर्ण स्थान’ के रूप में अधिसूचित किया और ट्रस्ट में दान करने वालों को 50 फीसदी की सीमा तक कटौती प्रदान की।

READ:  लिव इन रिलेशन को नकारने वाला समाज नाता प्रथा पर चुप क्यों रहता है?

अधिसूचना में कहा गया है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र एक ऐतिहासिक अहमियत वाली जगह है और पूजा का एक लोकप्रिय स्थल है। आयकर अधिनियम की धारा 80 जी की उप-धारा (दो) के खंड (बी) के तहत इसके निर्माण में जुटे ट्रस्ट को दान करने वाले लोगों को 50 प्रतिशत तक की छूट दी जा सकती है। आयकर अधिनियम की धारा 80 जी के तहत किसी भी सामाजिक, राजनैतिक और जनहितकारी संस्थाओं समेत सरकारी राहत कोषों में दिए गए दान या चंदे पर टैक्स छूट लेने का अधिकार मिलता है।

इससे पहले केंद्र सरकार ने 2017 में चेन्नई के मायलापुर स्थित अरुलमिगु कपालेश्वर थिरुकोइल, चेन्नई के कोट्टिवाकम स्थित अरियाकुडी श्री श्रीनिवास पेरुमल मंदिर और महाराष्ट्र के श्री राम, रामदास स्वामी समाधि मंदिर (मंदिर) और रामदास स्वामी मठ को ऐतिहासिक महत्व और सार्वजनिक पूजा के स्थानों के रूप में अधिसूचित किया था और धारा 80 जी के तहत कटौती के लिए अनुमति दी थी। वहीं, अमृतसर स्थित गुरुद्वारा श्री हरमंदिर साहिब जैसे अन्य धार्मिक स्थानों को भी आयकर अधिनियम की धारा 80 जी के तहत छूट प्राप्त है।

READ:  IFFCO ने लिया अहम फैसला, किसानों को दी बड़ी राहत

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।