Home » ‘Corona Mata ki Puja aur Upvas’, यहां 150 महिलाओं ने रख लिया कोरोना माता का उपवास!

‘Corona Mata ki Puja aur Upvas’, यहां 150 महिलाओं ने रख लिया कोरोना माता का उपवास!

corona mata
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Corona Mata ki Puja aur Upvas: दुनिया में लोग कोरोना वायरस से मर रहे हैं वहीं भारत में उससे बचने के लिए कुछ महिलाओं ने कोरोना को माता ( Corona Mata ki Puja aur Upvas ) मान कर पूजा शुरू कर दी है। इतना ही नहीं इन महिलाओं ने कोरोना माता उपवास भी रखा और पूरे रिती रिवाजों के कोरोना माता की पूजा अर्चना की और प्रार्थना की कि कोरोना से हमारी रक्षा करें।

राजनांदगांव शहर जहां महिलाएं रखती कोरोना माता का उपवास
ये घटना छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव की है। राजनांदगांव में महिलाएं इस कदर डरी हुई हैं की उन्होंने कोरोना को माता मान कर उसकी पूजा और व्रत रखना शुरू कर दिया है।

महिलाएं कैसे रख रही व्रत
महिलाएं कोरोना से बचने के लिए शीतला माता, बम्लेश्वरी माता,काली माता के साथ साथ कोरोना को भी माता मान कर उपवास कर रही हैं। उनका मानना है की ऐसा करने से कोरोना का खात्मा होगा। ऐसा करके वे सिर्फ अंधविश्वास को बढ़ावा दे रही है, और सरकार द्वारा बनाई गई कोविड गाइडलाइंस( covid guidelines) का मजाक बना रही है। ऐसे में उन्हें रोकने की जरूरत है और अंधविश्वास के प्रकोप से बचने की जरूरत है।

READ:  13 साल की लड़की पर 144 बार चाकू से वार, 14 साल के लड़के ने पार की क्रूरता की हद!

Black Fungus Symptoms and Treatment: ब्लैक फंगस के लक्षण और उपचार

अब तक 150 औरतों ने किया व्रत
राजनांदगांव शहर में पुराना बस स्टैंड के पास मां काली मंदिर में महिलाएं जा कर कोरोना माता की पूजा कर रही। अब तक 150 महिलाओं ने उपवास रखा है।

Harishankar Parsai हरिशंकर परसाई के अकाउंट से किया गया यह ट्विट
हरिशंकर परसाई के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए कहा कि समस्याओं को इस देश में झाड़ फूंक, टोना टोटका से हल किया जाता है। (problems are solved in this country with Chaos, Sorcery) मंदिरों में भीड़भाड़ बढ़ाने की जगह घर पे रह कर खुद को सुरक्षित रखें। इसके साथ ही साथ समय समय पर अपने हाथों को सेनेटाइज (Senetize) करते रहे, मास्क लगाए और दो गज की दूरी बना कर रखे।

READ:  Chhattisgarh: Collector who slaps young man apologizes

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।