बीजेपी के खिलाफ आवाज मंहगी पड़ेगी, राज ठाकरे ईडी के रडार पर !

एम.एस.नौला | मुंबई


महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना चीफ राज ठाकरे की बीजेपी विरोधी भूमिका अब उन्हें भारी पड़ने वाली है। पश्चिम बंगाल की चीफ मिनिस्टर ममता बनर्जी के साथ उनकी मुलाकात बीजेपी को रास नहीं आ रही है। सूत्रों की माने तो आने वाले सप्ताह में राज ठाकरे को एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट ई डी समन्स भेज सकती है। एफपीजे के अनुसार मुंबई के दादर स्थित कोहिनूर मिल नंबर 3 की खरीदारी के मामले में राज ठाकरे से पूछताछ की जा सकती है।

सूत्रों का कहना है की लोकसभा चुनाव के दौरान राज ठाकरे द्वारा बीजेपी शिवसेना के खिलाफ चलाई गई मुहिम बीजेपी को पहले से ही खल रही थी। हालांकि राज ठाकरे की मुहिम से नतीजों पर कोई ज्यादा असर नहीं पड़ा लेकिन बीजेपी का मानना है कि राज ठाकरे की यही भूमिका विधानसभा के नतीजों को प्रभावित कर सकती है। इसके चलते हैं यह तय किया गया यदि राज ठाकरे ईडी के मामलों में फंसते हैं और उन पर कार्रवाई की जाती है तो राज ठाकरे की इमेज को धक्का लग सकता है।

Also Read:  BJP gears up for 2024 Lok Sabha elections

राज ठाकरे को ईडी समंस भेजकर बुलाएगी और उनकी बीजेपी-शिवसेना सरकार विरोधी कैंपैनिंग को रोके रखेगी। राज ठाकरे को बार-बार बुलाया जाएगा और घंटों बिठाया जाएगा इंक्वायरी के लिए ।वह इंक्वायरी में फंसे रहेंगे और मुंबई से बाहर नहीं जा पाएंगे। इसके पहले कोहिनूर सिटी एंन एलके चीफ फाइनेंस से ऑफिसर को पूछताछ के लिए बुलाया जा चुका है। अब राज ठाकरे की बारी है।ईडी व अन्य जांच एजेंसी कोहिनूर सीटीएनल में आयएल एंड एफएस ग्रुप के कर्ज और 680 करोड़ के निवेश की जांच कर रही हैं।