Home » Rahul Gandhi Birthday: राहुल गांधी के 50 सालों के सफर के महत्वपूर्ण पड़ाव

Rahul Gandhi Birthday: राहुल गांधी के 50 सालों के सफर के महत्वपूर्ण पड़ाव

Farmers Protest Delhi chalo congress leader rahul gandhi tweet on kisan andolan
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Rahul Gandhi Birthday: कांग्रेस पार्टी (INC) के पूर्व प्रमुख राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) का आज 50वां जन्मदिन है। राहुल गाँधी ने अपना जन्मदिन न मानाने का फैसला किया है। उन्होंने घोषित किया कि उनके जन्म दिवस पर कोई समारोह का आयोजन न हो और इस का मुख्य कारण है वैश्विक महामारी (Covid-19) और गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प। इस अवसर पर, कांग्रेस पार्टी ने देश भर के कोरोनोवायरस योद्धाओं को पीपीई किट (PPE Kit), मास्क और गरीबों में 50 लाख खाद्य पैकेट वितरित करने का निर्णय लिया। वहीं देश के कई हिस्सों में रक्तदान अभियान आयोजित किए गए।

राहुल गांधी के 50 सालों के सफर के महत्वपूर्ण पड़ाव-
राहुल गाँधी का जन्म 19th जून, 1970 को दिल्ली (New Delhi) में हुआ था। राजीव गाँधी (Rajiv Gandhi) और सोनिआ गाँधी (Sonia Gandhi ) के बेटे राहुल गाँधी जो कि भारतीय संसद के सदस्य हैं (Member of Parliament), 16 दिसंबर, 2017 से 3 जुलाई, 2019 तक कांग्रेस के अध्यक्ष (President) रह चुके हैं। उनके परदादा जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru), भारत के पहले प्रधानमंत्री थे और वह भारत के सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने 17 वर्षों तक भारत कि सेवा की। वहीं राहुल की दादी, इंदिरा गाँधी (Indira Gandhi), भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं और उनके पिता, राजीव गाँधी, भी भारत के प्रधानमंत्री रह चुके हैं।

राहुल गांधी का बचपन भारत की राजधानी दिल्ली और देहरादून के पहाड़ों के बीच बीता। नई दिल्ली में सेंट कोलंबस स्कूल (St. Columba’s School, Delhi) में कुछ साल बिताने के बाद, 1981 से 1983 तक राहुल उत्तराखंड राज्य के दून स्कूल (The Doon School, Dehradun) में पढ़े। श्रीमती इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राहुल गांधी के पिता, राजीव गांधी ने राजनैतिक पद संभाला और 31 अक्टूबर, 1984 को प्रधानमंत्री की शपथ ली।

READ:  Who is congress new minority chairman Imran Pratapgarhi?

स्वर्गीय इंदिरा गांधी के परिवार पर निरंतर सुरक्षा खतरों के कारण, राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को घर से ही पढ़ाई करनी पड़ी। राहुल ने अपनी स्नातक शिक्षा (Undergraduate) के लिए 1989 में सेंट स्टीफन कॉलेज, दिल्ली (St. Stephen’s College, Delhi) में दाखिला लिया लेकिन प्रथम वर्ष की परीक्षाएं पूरी करने के बाद वह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University) चले गए।

1991 में, अपने पिता की मृत्यु के बाद सुरक्षा खतरों के कारण, राहुल गांधी फ्लोरिडा के रोलिंस कॉलेज (Rollins College Florida, USA) में स्थानांतरित हो गए, जहां से उन्होंने 1994 में बी.ए (B .A) डिग्री प्राप्त की। उन्होंने 1995 में कैम्ब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज (Trinity College, Cambridge) से अपने एम.फिल (M.Phil) पढ़ाई पूरी कि।

राहुल गांधी ने 2004 में राजनीति में प्रवेश किया और अमेठी (Amethi, UP) से उस साल हुए लोक सभा चुनावों (Lok Sabha Election) को सफलतापूर्वक लड़ा। वह 2009 और 2014 में निर्वाचन क्षेत्र से फिर से जीते। पार्टी सचिवालय के पुनर्गठन के दौरान, राहुल गांधी को 24 सितंबर, 2007 को ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी (All India Congress Committee) के महासचिव (General Secretary) के रूप में नियुक्त किया गया था।

उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (NSUI) और भारतीय युवा कांग्रेस (Indian Youth Congress) की भी जिम्मेदारी ली। दोनों ने उनके नेतृत्व में घातीय वृद्धि देखी। राहुल को 2013 में कांग्रेस उपाध्यक्ष (Vice President) चुना गया, जो पहले महासचिव (General Secretary) के रूप में नियुक्त किये जा चुके थे। 2014 के आम चुनावों में, राहुल गांधी ने अमेठी निर्वाचन क्षेत्र से अपनी लोकसभा सीट बरकरार रखी। दिसंबर 2017 को कांग्रेस के अध्यक्ष (President) का पद संभाला। और फिर 3 जुलाई, 2019 को आधिकारिक तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।

READ:  Sidhu's advisor Malvinder Mali resigns after controversial statements

इस्तीफा देने के बाद उन्होंने ट्वीटर पर सन्देश देते हुए लिखा कि, “मेरे लिए यह कांग्रेस पार्टी की सेवा करने का सम्मान है, जिनके मूल्यों और आदर्शों ने हमारे सुंदर राष्ट्र की जीवनदायिनी के रूप में सेवा की है। मैं देश और अपने संगठन को बहुत आभार और प्यार का प्रकट करता हूं। जय हिंद।” राहुल, राजीव गांधी फाउंडेशन (Rajiv Gandhi Foundation) और राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट (Rajiv Gandhi Charitable Trust) के ट्रस्टी (Trustee) भी हैं।