भारतीय गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज

भारतीय गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज पर किया ऐसा कमेंट के मैच रोकना पड़ गया

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सिडनी में इंडिया और आस्ट्रेलिया के बीच चल रहे टेस्ट मैं के दौरान भारत के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज पर एक बार फिर नस्लीय और भद्दे कमेंट किए गए। सिराज के साथ बुमराह पर भी रविवार को भी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) के दर्शक दीर्घा से नस्लीय टिप्पणी की।

क्या है पूरा विवाद

दरअसल, भारतीय गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे थे, तब उनसे बदतमीजी हुई। उनपर भद्दे कमेंट पास किए गए, जिसके बाद करीब 15 मिनट तक मैच रोकना पड़ गया। कप्तान रहाणे ने इसकी शिकायत फील्ड अंपायर से भी की। शिकायत के बाद सुरक्षा कर्मियों ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में बैठे दर्शकों के उस ग्रुप को स्टेडियम से बाहर कर दिया, जिसने सिराज पर नस्लीय टिप्पणी की थी।

READ:  Saarthi Education Foundation: The COVID heroes who deserve a salute!

इंडिया टूडे की ख़बर के अनुसार गेंजबाज़ मोहम्मद सिराज को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के एक स्टैंड में उपस्थित दर्शकों के एक ग्रुप ने ‘मंकी’ (बंदर) कहा, जिससे 2007-08 में भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे के ‘मंकीगेट’ प्रकरण की याद ताजा हो गई।

मोहम्मद सिराज के साथ हुई इस बदतमीजी के बाद भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने ट्विटर पर अपना गुसा जाहिर किया है।

भज्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैंने भी व्यक्तिगत रूप से ऑस्ट्रेलिया में खेलने के दौरान अपने धर्म और रंग को लेकर दर्शकों से काफी कुछ सुना है।’ भज्जी ने ट्वीट करते हुए आगे लिखा, ‘मेरे खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में मैदान पर बहुत सी बातें कही जाती थी। यह पहली बार नहीं है जब ऑस्ट्रेलिया में दर्शकों की भीड़ बदतमीजी कर रही है। आप उन्हें कैसे रोकेंगे।’

READ:  A. R. Rahman को बॉलीवुड में नहीं मिल रहा काम, एक 'गैंग' पर लगाया गंभीर आरोप

इससे पहले, शनिवार को भारतीय क्रिकेट टीम के अधिकारियों ने शिकायत की थी कि सिराज और जसप्रीत बुमराह पर दर्शकों ने नस्लीय टिप्पणी की है।क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस तरह की घटना की निंदा करता है। सीए के इंट्रीगिटी एवं सिक्योरिटी प्रमुख सीन कॉरोल ने कहा है कि जो लोग इस तरह की घटनाओं में लिप्त हैं, सीए उनका कभी स्वागत नहीं करेगा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।