अब 14 फरवरी की जगह 20 फरवरी को डलेंगे पंजाब में वोट

आज मुख्यमंत्री चन्नी ने पंजाब में चुनाव की तारीखों (Punjab Election dates) को आगे बढ़ाने की अर्जी चुनाव आयोग (Election commission) से की थी, जिसे चुनाव आयोग ने मान लिया है। अब पंजाब में 14 फरवरी की जगह 20 फरवरी को मतदान होगा। 16 जनवरी को रविदास जयंती की वजह से यह फैसला लिया गया है।

अब चुनाव आयोग के नोटिफिकेशन के मुताबिक राज्य में सभी दलों की तरफ से किए गए अनुरोध के बाद आयोग ने पंजाब में चुनाव की तारीखों में बदलाव का फैसला लिया है। इसके अनुसार अब पंजाब में-

नोटिफिकेशन की तारीख 25 जनवरी
नॉमिनेशन की आखिरी तारीख 1 फरवरी
नॉमिनेशन वापस लेने की तारीख 4 फरवरी
मतदान की तारीख 20 फरवरी
मतगणना 10 मार्च को होगी।

पंजाब में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही चुनाव की तारीख आगे बढ़ाने को कहा है। इसकी मुख्य वजह 16 फरवरी को रविदास जयंती पड़ना बताया जा रहा है।

बीजेपी के जनरल सेक्रेटरी सुभाष शर्मा ने कहा था कि राज्य में गुरु रविदास को मानने वाले काफी सारे लोग हैं। इसमें राज्य के 32 फीसदी अनुसूचित जाति के लोग हैं। इसलिए चुनाव आगे बढाए जाने चाहिए ।

शर्मा ने चुनाव आयोग को लिखा कि इस दिन पंजाब से लाखों श्रद्धालु बनारस जाते हैं गुरुपूरब मनाने ऐसे में उनके लिए चुनाव में भाग लेना मुमकिन नहीं होगा। अगर चुनाव कि डेट आगे बड़ेगी तो ये लोग भी चुनाव में हिस्सा ले पाएंगे।

पिछले हफ्ते, मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा था, जिसमें 16 फरवरी को पड़ने वाली गुरु रविदास जयंती के मद्देनजर पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 को कम से कम छह दिनों के लिए स्थगित करने का आग्रह किया गया था।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

पहाड़ी क्षेत्रों की महिलाओं का प्रसव भगवान भरोसे होता है

महामारी में रोजगार और पोषण का इंतज़ाम करती महिलाएं

आधी अधूरी ग्राम पंचायत कोरोना का मुकाबला कैसे करेगी?