pulse oximeter to covid Patients in delhi

होम आईसोलेशन वाले मरीज़ों को दिल्ली सरकार देगी पल्स-ऑक्सीमीटर

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली सरकार ने होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) हुए Covid-19 के रोगियों को पल्स-ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) देने का निर्णय लिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने सोमवार को ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से यह घोषित किया। Covid-19 के रोगियों में सबसे सामान्य समस्या है शरीर में ऑक्सीजन के स्तर में अचानक गिरावट, जिसको मध्य नज़र रखते हुए दिल्ली सरकार ने उन्हें पल्स-ऑक्सीमीटर प्रदान करने की घोषणा की। पल्स-ऑक्सीमीटर के इस्तेमाल से होम आइसोलेशन (Home Isolation) वाले रोगी अपने शरीर में ऑक्सीजन के स्तर (Oxygen Level) को समय दर समय माप पाएंगे।

कोरोना वायरस (Corona Virus) श्वसन प्रणाली (Respiratory System) को प्रभावित करता है जिससे साँस लेने में तकलीफ होने लगती है। उन सभी रोगियों को कोरोना टीम (Corona Team) नियमित रूप से फ़ोन कॉल (Phone Call) के माध्यम से अपनी निगरानी में रखेगी और ज़रूरत पड़ने पर उन्हें स्थिर करने में मदद करने के लिए ऑक्सीमीटर के साथ सहायता प्रदान करेगी।

ऑक्सीजन के स्तर में कमी होने पर, सरकार रोगी को निर्दिष्ट कविड स्वास्थ्य सुविधा (Designated Covid Healthcare Facility) तक पहुंचने से पहले स्थिति का प्रबंधन करने के लिए घर पर ऑक्सीजन सिलिंडर (Oxygen Cylinder) प्रदान करेगी।

ALSO READ: मेघालय में धार्मिक स्थल अब सिर्फ विवाह के लिए खोले जाएंगे

केजरीवाल ने कहा, “कोरोना वायरस (Corona Virus) श्वसन प्रणाली (Respiratory System) को प्रभावित करता है जिससे सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। दिल्ली सरकार सभी होम आइसोलेशन के मामलों में पल्स-ऑक्सीमीटर प्रदान करेगी। आप अपने ऑक्सीजन की निगरानी कर सकते हैं और यदि कोई गिरावट है, तो आप हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं। अस्पताल में रिपोर्ट करने से पहले एक ऑक्सीजन सिलिंडर आप तक पहुंच जाएगा।”

केजरीवाल ने यह जानकारी भी दी की फिलहाल दिल्ली में कुल 25 ,000 एक्टिव केस (Active Cases) है जिनमे से 12,000 होम आइसोलेशन में है। दिल्ली में 6 लाख रैपिड एंटीजन परीक्षण किट (Rapid Antigen Testing Kits) का इंतजाम किया गया है और अब इसके परीक्षण में प्रति दिन 3 गुना वृद्धि हुई है। जहाँ पहले 5,000 परीक्षण हो रहे थे वही अब 18,000 परीक्षण प्रति दिन तक बढ़ गए है।

वर्त्तमान गाइडलाइन्स के मुताबिक, Covid -19 रोगियों के ऑक्सीजन स्तर 90% या उससे कम होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ता है (सामान्य 95 से 100% है)।

पल्स-ऑक्सीमीटर एक छोटा क्लिप-ऑन डिवाइस (clip-on device) है जिसे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा मापी जा सकती है। ऑक्सीजन की मात्रा मापने के लिए ऑक्सीमीटर को उंगली पर पहना पड़ता है। दिल्ली सरकार 1 लाख पल्स-ऑक्सीमीटर खरीद रही है, जो मरीजों को दिया जायेगा और उनके ठीक होने पर, वह इन्हें सर्कार को लौटा सकते है।

ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के दौरान केजरीवाल ने कहा कि, “इस वक़्त हम चीन के खिलाफ दो युद्ध लड़ रहा है – एक वायरस के खिलाफ जो पड़ोसी देश से आया है और दूसरा सीमा पर। हमारे बहादुर जवान पीछे नहीं हटे, हम भी पीछे नहीं हटेंगे और चीन के खिलाफ दोनों युद्ध जीतेंगे।”

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, “हमें केंद्र सरकार से काफी सहयोग मिल रहा है, दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार मिल ​कर दिल्ली में कोरोना पर काबू पाने की कोशिश कर रही हैं। यह राजनीति का समय नहीं है, हम सभी को मिलकर युद्ध लड़ना है।”

आपको बता दें, दिल्ली में 59,746 केस रिकॉर्ड हुए है जिनमे से फिलहाल 24,558 एक्टिव केस हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 3,000 नए केस दर्ज किए गए व 63 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। कोरोना वायरस से संक्रमित से कुल 2,175 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। वहीं अभी तक 33,013 मरीज ठीक हो चुके हैं।

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से आग्रह है कि वे Covid-19 के पॉजिटिव होने पर घबराएं नहीं और सभी स्वास्थ्य प्रोटोकॉल (Health Protocol) का पालन करें और होम आइसोलेशन में रहें।

Written By Ambika Rattanmani, She is a Post-Graduate Final Year Student of Journalism & News Media from GGSIPU, New Delhi.

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

1 thought on “होम आईसोलेशन वाले मरीज़ों को दिल्ली सरकार देगी पल्स-ऑक्सीमीटर”

  1. Pingback: भारत के पास है दुनिया की सबसे ताकतवर हिमालयी सेना | groundreport.in

Comments are closed.