PMMY Loan Scheme

PMMY Loan Scheme : इस योजना के तहत मिल रहा 10 लाख का लोन, ऐसे करें आवेदन…

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY Loan Scheme) के तहत अब आप भी अपना कारोबार आसानी से शुरू कर सकते हैं । सरकार इस योजना के तहत लोगों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए लोन दे रही है। इस योजना के अन्तर्गत आप 10 लाख रुपये तक का लोन प्राप्त कर सकते हैं। आवेदन के महज़ 7 से 10 दिन के भीतर ही लोन की राशि प्राप्त हो जाती है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) का पूरा नाम माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी है। इस योजना की ख़ासियत यह है कि सरकार बिना गारंटी के  लोगों को लोन देती है। इसके साथ ही किसी प्रकार का प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लगाया जाता है।

कौन ले सकता है PMMY Loan Scheme का लाभ ?

  • इसके लिए शर्त है कि लोन लेने वाले आवेदक की महीने की इनकम 17,000 रुपये से अधिक होनी चाहिए
  • अगर आवेदन कर्ता बिजनेसमैन है तो उसके लिए जरूरी है कि उसका कारोबार कम से कम 5 साल पुराना हो
  • अगर कोई व्यक्ति कारोबार शुरू करने के लिए यह लोन ले रहा है तो उसके लिए जरूरी है कि वो पहले 2 वर्ष नौकरी की हो
  • अगर कोई उद्यम मुद्रा लोन के लिए आवेदन कर रहा है तो उसका सालाना कारोबार 15 लाख रुपये तक का होना अनिवार्य है
READ:  अब आसानी से ऐसे डाउनलोड करें अपना डिजिटल Voter Card

तरुण मुद्रा लोन- मुद्रा योजना की इस कैटेगरी के तहत सबसे ज्यादा लोन मिलता है. इसके तहत आप अपने करोबार को बढ़ाने के लिए 10 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं।

किशोर मुद्रा लोन- इस कैटेगरी के तहत अगर आपका बिजनेस है लेकिन आप उसे स्टेब्लिश यानी स्थापित नहीं कर पाए हैं, और उसे अब खड़ा करना चाहते हैं तो उसके लिए 5 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं।

शिशु मुद्रा लोन- इस कैटेगरी में आप अपना कारोबार शुरू करने के लिए 50,000 रुपये तक लोन का ले सकते हैं।

योजना का लाभ उठाने के लिए https://www.mudra.org.in/ पर जाकर आवेदन करें

READ:  US Presidential Election: Joe Biden lead by 12 points against Trump in latest Fox poll

यह योजना किसी कॉरपोरेट के लिए नहीं है बल्कि इसे छोटी संस्थाएं और व्यक्ति अपने कारोबार को स्थापित करने के लिए इससे फायदा ले सकते हैं। इसके तहत प्रोपराइटरशिप फर्म, सर्विस सेक्टर की इकाई, छोटी निर्माण इकाई, दुकानदार, पार्टनरशिप फर्म, रिपेयर शॉप, फल-सब्जी विक्रेता, मशीन ऑपरेटर, ट्रक/कार चालक, छोटे उद्योग, होटल मालिक, ग्रामीण एवं शहरी इलाके के उद्योग और खाद्य प्रसंस्करण इकाई के लिए लोन लिया जा सकता है।

ALSO READ: भारतीय रेल: कब दोबारा पटरी पर लौटेंगी नियमित ट्रेनें?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: