गुजरात मॉडल : हर ग़रीब को पक्का मकान देने वाली सरकार झुग्गियां छिपाने में लगी है

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 एवं 25 फरवरी को भारत यात्रा पर आ रहे हैं। इस दौरान वे गुजरात के अहमदाबाद भी जाएंगे। इसी को ध्यान में रखते हुए अहमदाबाद नगर निगम ने ट्रंप की राह में पड़ने वाली झुग्गियों को ढंकने के लिए दीवार बना दी। ताकि उन पर ट्रंप की नजर न पड़े। ट्रंप और मोदी 24 फरवरी को गुजरात के अहमदाबाद पहुंचेंगे। यहां दोनों नेता रोड शो करेंगे।

अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने कहा है कि वह और उनके पति एवं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस महीने के अंत में होने वाले भारत दौरे को लेकर बहुत उत्साहित हैं। मेलानिया ने भारत दौरे पर आमंत्रित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है।

मोदी और ट्रंप के रोड शो को देखते हुए अहमदाबाद नगर निगम सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ एक दीवार बना रहा है। इसे अहमदाबाद हवाई अड्डे से गांधीनगर की ओर जाने वाली सड़क पर सौंदर्यीकरण अभियान के तहत मोटेरा में सरदार पटेल स्टेडियम के आस-पास बनाया जा रहा है ताकि झुग्गी बस्तियों वाले क्षेत्र को छुपाया जा सके।

नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘अनुमानित 600 मीटर की दूरी पर झुग्गी बस्तियों को छुपाने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार बनाई जा रही है। यहां पर पौधारोपण अभियान भी चलाया जाएगा।’ 500 से ज्यादा कच्चे मकानो में रहने वाली 2500 की आबादी दशको पुराने देव सरन या सरनियावास झुग्गी बस्तियों के क्षेत्र का हिस्सा हैं।

ALSO READ:  राष्ट्रपति अर्दोग़ान की मेज़बानी के लिए वाइट हाउस तैयार है : ट्रम्प

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 thoughts on “गुजरात मॉडल : हर ग़रीब को पक्का मकान देने वाली सरकार झुग्गियां छिपाने में लगी है”

  1. Pingback: 1 अप्रैल से शुरु होने जा रही NPR की प्रक्रिया | TOP STORY groundreport.in

  2. Pingback: गुजरात मॉडल : झुग्गियों को दीवार से छिपाने के बाद 45 ग़रीब परिवारों का घर ख़ाली कराएगी सरकार | groundreport.in

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.