प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया बंगाल रैली का वीडियो तो जनता बोली शर्म नहीं आती

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश में कोरोना के पिछले 24 घंटे के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में 1,68,912 नए मामले सामने आए हैं। जो एक दिन में रिकॉर्ड हुए केसों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 904 मरीज़ों की इस घातक संक्रमण की वजह से मौत भी हुई है। एक दिन में हज़ारों लोग कोरोना से मर रहे हैं और देश के प्रधानसेवक कोविड नियमों को ताक पर रख कर बंगाल में रैली कर रहे हैं। रैली कर भी रहे हैं और वीडियो भी शेयर कर रहे हैं। इस वीडियो को देखकर जनता का गुस्सा प्रधानमंत्री पर फूट पड़ा। लोगों ने कमेंट सेक्शन में प्रधानमंत्री की आलोचना करना शुरु कर दिया।

READ:  ज़रुर पढ़ें: डॉ. सीएस प्रमेश ने बताए कोरोना से बचने के कारगर तरीके

ALSO READ: बिगड़ रहे हैं मध्यप्रदेश में हालात, कई शहरों में 10 दिन का पूर्ण लॉकडाउन

क्या नेताओं को नहीं है जनता की जान की फिक्र

यह बहुत ही चिंता की बात है कि कोविड की दूसरी लहर में हज़ारों लोग रोज़ अपनी जान गवां रहे हैं। और हमारे नेता चुनाव में व्यस्त हैं। उनके लिए लोगों की जान से ज्यादा चुनाव ज़रुरी है। देश के कई शहरों में स्थिति काबू से बाहर है। कहीं वेंटीलेटर नहीं है, तो कहीं अस्पताल में जगह नहीं है, कहीं ऑक्सीज़न की कमी है तो कहीं ज़रुरी दवाईयों की। लेकिन देश का प्रधानसेवक और बड़े-बड़े नेता चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं।

READ:  Coronavirus: भाप लेने का सही तरीका अपनायें, कोरोना को दूर भगाएं!

ALSO READ: भयावह: महाराष्ट्र के अहमदनगर में जली एक साथ कई चिताएं

ऐसा लगता है जैसे की सरकार के पास कोरोना को रोकने की कोई नीति ही नहीं है। वह सिर्फ चीज़ों के नाम बदलने और मौत के तांडव के बीच उत्सव मनाने जैसे जुमले फेंक रही है। कभी प्रधानमंत्री नाईट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू बोलने को कहते हैं तो कभी वैक्सीनेशन को वैक्सीन उत्सव मनाने को कहते हैं। यह जानते हुए की देश में वैक्सीन की कमी के कारण कई सेंटर बंद हो चुके हैं। कई राज्यों ने स्टॉक खत्म होने की चेतावनी जारी कर दी है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।