कमलनाथ राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानते हैं, इसलिए वचनपत्र से राहुल गांधी का चेहरा किया ग़ायब..

मध्य प्रदेश उपचुनाव : वचनपत्र से राहुल गांधी का फोटो ग़ायब, भाजपा ने कसा ये तंज़

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश उपचुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी ने जो मिनी वचन पत्र जारी किया है, उसमें राहुल गांधी गायब हैं। वचनपत्र के कवर पर इंदिरा गांधी और सोनिया गांधी के साथ पीसीसी चीफ कमलनाथ की फोटो है, लेकिन राहुल गांधी नहीं दिख रहे हैं। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में ‘आपके सपने होंगे साकार, फिर बनेगी कमलनाथ सरकार’ स्लोगन दिया है। पिछली सरकार की उपलब्धियों का क्रेडिट भी पूरी तरह से कमलनाथ लेते हुए नजर आ रहे हैं।

साल 2018 के विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस पार्टी ने जो वचन पत्र जारी किया था, उसमें फ्रंट पेज पर फ्रंट फोटो राहुल गांधी की थी, लेकिन अब उपचुनाव में कांग्रेस ने मिनी वचन पत्र जारी किया है। इसमें कमलनाथ सरकार की 15 महीने की उपलब्धियों का सारांश जनता के सामने पेश किया गया है। इस बार इससे राहुल गांधी की तस्वीर ग़ायब है, उसमें इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी के साथ सिर्फ पीसीसी चीफ कमलनाथ की फोटो है।

कुणाल चौधरी का शिवराज-सिंधिया पर निशाना, कहा- बिकाऊलालों ने सरकार गिराकर अपने घर में करोड़ो रुपये भर लिए हैं

भाजपा ने कांग्रेस के मिनी वचन पत्र से राहुल गांधी के आउट होने पर तंज कसा है। वाजपेयी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जानती है कि राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह के फ्रंट पर आने से वोट कट जाते हैं। यही कारण है कि पार्टी ने उपचुनाव में दोनों नेताओं को बाहर कर दिया है।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हितेश वाजपेयी ने कहा कि कमलनाथ राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानते हैं, इसलिए वचनपत्र में राहुल गांधी का चेहरा नहीं रखा है और न ही उन्हें मध्य प्रदेश बुलाते हैं।


कांग्रेस पार्टी को एक और बड़ा झटका, इस बड़े नेता ने सिंधिया की मौजूदगी में भाजपा का थामा दामन

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।