Home » PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case: अवैध संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था विभाग का प्रोफेसर

PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case: अवैध संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था विभाग का प्रोफेसर

PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case: हिसार के गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी (Guru Jambheshwar University of Science and Technology, Hisar Haryana) में पीएचडी की छात्रा सोनिया डबास (PhD Scholar Sonia Dabas) ने लैब में ज़हर खाकर आत्महत्या कर ली। जाँच से पता चला कि छात्रा पर विभाग के चेयरमैन अवैध संबंध बनाने का दवाब डालते थे। सोनिया प्रशासन के गैरजिम्मादाराना रवैये से भी परेशान थी। लैब में रखे कम्प्यूटर को दूसरी जगह भेजा जा रहा था। उसमें उसके सारे प्रोजेक्टेस का डेटा था, जिसको लेकर वो काम कर रही थी। वो निराश हो गयी थी कि उसकी अभी तक कि सारी मेहनत खराब हो जाएगी। (PhD Scholar Sonia Dabas Suicide Case)

कौन थी सोनिया डबास (Who is PhD Scholar Sonia Dabas)
सोनिया जीजेयू के पीएचडी डिपार्टमेंट के नैनो बायोटेक विभाग की स्कॉलर छात्रा थी। वो माइक्रोबायोलॉजी से पीएचडी कर रही थी। सोनिया ने जीजेयू से एमएससी में गोल्ड मेडल भी जीत था। वह हिसार के 12 क्वार्टर की रहने वाली थी।


दिल्ली के कोविड केयर सेंटर में बंदर की तस्वीरें क्यों लगाई गई हैं?

कब हुई छात्रा की मौत?
सोमवार को दोपहर 1बजे छात्रा की जहर खा लेने की वजह से मौत हो गयी। शव को सिविल अस्पताल में रखवाया गया। उसका कोरोना सैम्पल भी लिया गया। दूसरे दिन मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन ने लेने से मना कर दिया। परिजन की मांग थी जब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं हो जाता हम शव नहीं लेंगे। कुछ समय बाद शव का 12 क्वार्टर के शमशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

READ:  CBSE 12th results: Check online

क्या लिखा था सुसाइड नोट में?

जाँच में सोनिया का लिखा हुआ सुसाइड नोट मिला जिसमें उसने लिखा था कि- “मैं फाइट हार चुकी हूँ। मेरे चारो तरफ घना अंधेरा है। खुदको खो चुकी हूँ।अब मैं और संघर्ष नहीं कर सकती। अब मैं दुनिया का सामना नहीं कर सकती। मुझमें ताकत नहीं बची है। वे मुझपर दया तो दिखाते हैं लेकिन मेरा फायदा उठाने के लिए। मैं पिंजरे में हूँ और आज़ाद होना चाहती हूँ।मैं एक अच्छी बेटी नहीं हूँ। मैं मम्मी पापा को बहुत मिस करती हूँ। पापा मम्मी अपना ख्याल रखना। मुझे माफ़ कर देना।

ब्लैक फंगस का इतिहास कोरोना से पुराना है, फिर अचानक कैसे फैली ये बीमारी

परिजनों ने भी कई आरोप लगाए
छात्रा के पिता ने पीएचडी विभाग के चेयरमैन प्रो. संदीप उनकी बेटी पर अवैध संबंध बनाने के लिए दवाब डालने का आरोप लगाया। पिता ने पुलिस से शिकायत की कि सोनिया ने 6 महीने पहले भी बताया था कि उसके विभाग के चेयरमैन प्रो. संदीप और पीएचडी गाइड नामिता उसे परेशान कर रहे है। संदीप अवैध संबंध का दवाब डालता था। सोनिया के पिता ने इस बारे में दोनों को समझाया, जिसके बाद गाइड नमिता ने कहा कि ऐसा दोबारा नहीं होगा। लेकिन संदीप सपनी हरकतों से बाज नहीं आया। पिछले हफ्ते भी उसने सोनिया को परेशान किया था।

एबीवीपी ने की जांच की मांग
छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मामले में जांच की मांग की है। एबीवीपी ने जीजेयू की छात्रा सोनिया डबास की आत्महत्या के मामले में एसआईटी जांच की मांग की है। अखिल भारतीय परिषद के प्रदेश सह-मंत्री गौरव कादयान और जीजेयू की अध्यक्षा नित्या चुघ ने कहा कि 17 मई को पीएचडी रिसर्च स्कॉलर सोनिया डबास का आत्महत्या करना बहुत दुःखद घटना है। उन्होंने कहा कि एक होनहार छात्रा का डिपार्टमेंट में ही जहर खाकर सुसाइड कर लेना एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी की छवि और प्रशानिक व्यवस्था पर सवाल उठाता है। इससे छात्र-छत्राओं का मनोबल कमजोर हो सकता है। सोनिया व उसके परिवार को न्याय मिल सके इसलिए इस मामले की निष्पक्ष जांच विजिलेंस से कराए जाने की मांग अखिल भारतीय परिषद ने मुख्यमंत्री, गृहमंत्री और कुलपति से करी है।

READ:  42% ministers of Modi government are tainted: ADR report

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।