मध्यप्रदेश उपचुनाव सुरखी विधानसभा कांग्रेस उम्मीदवार पारुल साहू

BJP पूर्व विधायक पारुल साहू कांग्रेस में शामिल, सुरखी से मिलेगा उपचुनाव का टिकट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी में शुक्रवार को भोपाल में भारतीय जनता पार्टी की पूर्व विधायक पारुल साहू कांग्रेस में शामिल हो गईं। साहू सागर जिले के सुरखी विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुकी हैं और माना जा रहा है कि वे सुरखी विधानसभा उपचुनाव में राज्य के परिवहन मंत्री एवं भाजपा नेता गोविंद राजपूत को कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर चुनौती देंगी।

ALSO READ: इस कांग्रेस विधायक के निधन के बाद मध्य प्रदेश में अब 27 नहीं 28 सीटों पर होगा उपचुनाव

कौन हैं पारुल साहू?

  • कमलनाथ ने साहू को विधिवत कांग्रेस की सदस्यता दिलायी और कहा कि उनके परिवार का कांग्रेस से पुराना नाता रहा है और ये सुश्री साहू की घर वापसी है।
  • कमलनाथ ने कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ दल भाजपा उपचुनावों को लेकर खोखलीं घोषणाएं कर रही है, लेकिन मतदाता समझदार हैं और वे बहकावें में आने वाले नहीं हैं।
  • सुश्री पारुल साहू वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में सुरखी से भाजपा की टिकट पर पहली बार चुनाव जीतकर विधायक बनीं थीं। उस समत उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर गोविंद राजपूत को पराजित किया था।
  • वर्ष 2018 के चुनाव में उन्हें टिकट नहीं मिला और उसके बाद से ही वे संगठन से नाराज बताई जा रहीं थीं।


इस अवसर पर पारुल साहू ने कहा कि उनके क्षेत्र की जनता चाहती है कि वे उनकी आवाज बनें, इसलिए उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का निर्णय लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि यह उनकी घर वापसी है।

बहरहाल, देखना होगा कि इस उपचुनाव में शिवराज-सिंधिया फैक्टर कितना सार्थक साबित होता है और कमलनाथ की रणनीति क्या रंग लाती है। चुनाव आयोग पहले ही साफ कर चुका है कि मध्य प्रदेश में उपचुनाव बिहार चुनाव के साथ ही होंगे। चुनाव आयोग ने कहा है कि नवंबर से पहले-पहले चुनाव होंगे हांलाकि तारीख की घोषणा अभी नहीं की गई है लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि मध्य प्रदेश में 15 नवंबर तक उपचुनाव हो सकते हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।