Home » संसद हमला: जब आतंकवादियों के हाथ हमारी संसद तक पहुंच गए थे

संसद हमला: जब आतंकवादियों के हाथ हमारी संसद तक पहुंच गए थे

संसद पर हमले के 19 साल
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आज ही के दिन भारत की संसद पर आतंकवादियों के समूह ने हमला कर दिया था। 13 दिसंबर 2001 के दिन भारतीय संसद गोलियों की आवाज़ से गूंज रही थी। इस हमले में 6 दिल्ली पुलिस के जवान समेत 10 लोगों ने जान गंवाई थी। 5 आतंकवादियों को मार गिराया गया था।

संसद हमला: क्या हुआ था उस दिन?

  • आतंकवादी एक कार में सवार होकर संसद भवन परिसर में दाखिल हुए थे। आतंकवादियों ने नकली स्टिकर लगाकर गृह मंत्रालय के पास का इस्तेमाल संसद में दाखिल होने के लिए किया था।
  • संसद के दोनों सदन हमला शुरु होने के महज़ 40 मिनट पहले ही एडजर्न हुए थे।
  • कई सांसद, सेक्रेटरी और स्टाफ उस समय संसद में मौजूद थे।
  • हमले के वक्त 100 मेंबर ऑफ पार्लियामेंट संसद परिसर में मौजूद थे, सभी को सुरक्षित बचा लिया गया।
  • आतंकवादी एके-47, रायफल, ग्रेनेड और ग्रेनेड लांचर से लैस थे।
  • सुरक्षा कर्मियों और आतंकवादियों के बीच करीब आधे घंटे तक मुठभेड़ चली।
  • आतंकवादी संसद के अंदर दाखिल होने में असफल रहे।
  • 5 आतंकियों को संसद के बाहर ही मार गिराया गया था।
READ:  Covishield vs Covaxin: कौन सी Vaccine है ज्यादा असरदार?

कितने लोगों की हुई थी मौत?

  • इस हमले में 10 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी।
  • 5 दिल्ली पुलिस के जवान शहीद हुए थे।
  • एक महिला सीआरपीएफ ट्रूपर
  • दो पार्लियामेंट के गार्ड
  • एक वार्ड स्टाफ
  • एक गार्डनर और एक फोटो जर्नलिस्ट की मौत इस हमले में हुई थी।

किसने रची थी संसद पर हमले की साज़िश?

  • संसद पर हमले की साज़िश पाकिस्तान में रची गई थी। जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा का हाथ इसमें था। कुल 5 आतंकवदियों को इस काम के लिए ट्रेनिंग दी गई थी ।
  • बाद में हुई जांच में यह सामने आया था कि जेकेएलएफ के पूर्व सरगना अफज़ल गुरु का हाथ भी इस हमले में था। इस हमले को अंजाम देने के लिए वह आतंकवादियों की मदद भारत में रह कर रहा था।
  • 9 फरवरी 2013 को अफज़ल गुरु को फांसी के फंदे पर लटका दिया गया था।
READ:  CT Scan Phobia: कोरोना से पैदा हुई नई बीमारी, जानिए क्या है 'सीटी स्कैन फोबिया'

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।