Home » भारत दुनियाभर में दवाएं भेज रहा है और पाकिस्तान आतंकवाद

भारत दुनियाभर में दवाएं भेज रहा है और पाकिस्तान आतंकवाद

Pakistan Busy in Exporting terrorism when world is fighting coronavirus, Mukund Narvane
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

पूरी दुनिया इस समय कोरोनावायरस (Coronavirus) से लड़ रही है। हर दिन लोग इस बिमारी से अपनी जान गवां रहे हैं। देश की आवाम घरों में कैद हैं मरीज़ ज़िंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं। स्वास्थ्यकर्मी और पुलिसवाले अपनी जान दांव पर लगा कर लोगों की जान बचा रहे हैं। लॉकडाउन की वजह से लोगों की ज़िंदगी तबाह हो रही है। यह हालात दुनिया के हर देश के हैं इससे पाकिस्तान (Pakistan) भी अछूता नहीं है। लेकिन पाकिस्तान के लिए ऐसे कठिन समय में भी सरहद (LOC Ceasefire) पर तनाव बनाना ज़्यादा ज़रुरी है। एलओसी पर पिछले कुछ हफ्ते में लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ है। इस संघर्ष विराम में आम लोगों की भी जान गई है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान संघर्ष विराम के उल्लंघन की आड़ में आतंकवादियों को भारत में घुसपैठ करवाना चाहता है। भारत नें हाल ही में जवाबी कार्यवाई कर कई आतंकवादी लॉंच पैड तबाह किये हैं। एकतरफ भारत मानवता के खातिर दुनियाभर में हाईड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) जैसी दवा और मदद भेज रहा है तो दूसरी तरफ पाकिस्तान का मकसद ऐसे नाज़ुक समय में आतंकवाद (Terrorism) फैलाना नज़र आ रहा है। जबकि वह खुद इस बीमारी से लड़ रहा है। यही बात सेना प्रमुख मनोज मुकंद नरवणे (Mukund Narvane) ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कही।

READ:  China releases new video of Galwan valley clashes

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में समाचार एजेंसी एएनआई से सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि जिस वक्त हम न सिर्फ हमारे देश के लोगों बल्कि अन्य देशों के लोगों को भी मेडिकल टीम, दवाएं भेजकर मदद कर रहे हैं, उस वक्त पाकिस्तान सिर्फ आतंक को एक्सपोर्ट कर रहा है। यह अच्छी बात नहीं है।’ उन्होंने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसे समय में जब पूरी दुनिया और भारत इस कोविड-19 महामारी के खतरे से जूझ रहा है, हमारा पड़ोसी हमारे लिए भारी मुसीबत बना हुआ है। बता दें कि सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं और गुरुवार को उन्होंने कश्मीर घाटी का दौरा कर सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की।

जनरल नरवणे ने घाटी में शांति और सतर्कता कायम रखने के लिए और कोविड-19 को फैलने से रोकने के वास्ते लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए सभी सरकारी विभागों की प्रशंसा की। जनरल नरवणे ने सेना के 92 बेस अस्पताल के डॉक्टरों और नर्सों से भी मुलाकात कर उनके द्वारा किए जा रहे कार्य की प्रशंसा की।

READ:  LNCT Bhopal: एलएनसिटी यूनिवर्सिटी में नेशनल फिजियोथैरेपी कॉन्फ्रेंस, 400 से ज्यादा स्टूडेंट हुए शामिल

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।