Home » असीम पोर्टल 2020 : 69 लाख से अधिक हुए पंजीकरण, रोज़गार सिर्फ़ 691 को

असीम पोर्टल 2020 : 69 लाख से अधिक हुए पंजीकरण, रोज़गार सिर्फ़ 691 को

Complete Lockdown in Bihar: what will open and what will close? See full guideline of bihar lockdown
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना महामारी ने देश में बेरोज़गारी जन सैलाब ख़डा कर दिया है। दिन-प्रतिदिन देश में रोज़गार की नई-नई समस्याएं उत्पन होती नज़र आ रही हैं। बेरोज़गारी की समस्या से लड़ने के लिए बीते 11 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सरकारी जॉब पोर्टल (असीम पोर्टल 2020) की शुरूआत की गई थी। इस पोर्टल के माध्यम से बेरोज़गार हो चुके लोगों को रोज़गार दिलाने की बात कही गई थी।

इस रोज़गार पोर्टल पर सिर्फ 40 दिनों के भीतर 69 लाख से अधिक लोगों ने रोज़गार के लिए पंजीकरण कराया था, लेकिन पंजीकरण कराने वालों में से एक बेहद छोटी संख्या में ही लोगों को रोजगार मिल पाया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, 14 अगस्त से 21 अगस्त के बीच एक सप्ताह के भीतर पोर्टल (असीम पोर्टल 2020) पर सात लाख से ज्यादा लोगों ने रोज़गार के लिए पंजीकरण कराया लेकिन इस दौरान सिर्फ 691 लोगों को ही रोजगार मिला।

READ:  जल, जंगल और ज़मीन को सहेजकर विकास की राह चल पड़ी हैं पहाड़ी महिलाएँ

कौशल विकास मंत्रालय एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा अपने आत्मनिर्भर स्किल्ड एंप्लॉएज एंप्लोयर मैपिंग (असीम) पोर्टल पर जुटए गए आंकड़ों से पता चलता है कि रोजगार की तलाश कर रहे 3.7 लाख उम्मीदवारों में से सिर्फ दो फीसदी को ही रोजगार पा सके।

पंजीकरण कराने वाले 69 लाख प्रवासी कामगारों में से 1.49 लाख लोगों को ही रोजगार की पेशकश की गई, लेकिन इनमें से भी सिर्फ 7,700 लोग ही रोजगार कर सके । मंत्रालय से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पोर्टल समय-समय पर विभिन्न क्षेत्र में प्रशिक्षित लोगों की सहायता के लिए बना था, जिन लोगों ने पंजीकरण कराया, वे सिर्फ प्रवासी कामगार नहीं है।

रोजगार की तलाश कर रहे उम्मीदवारों की संख्या एक सप्ताह में 80 फीसदी बढ़ी. यह 14 से 21 अगस्त के दौरान 3.78 लाख से बढ़कर 2.97 लाख हो गई लेकिन जिन उम्मीदवारों को वास्तव में रोजगार मिला, उनकी संख्या में सिर्फ 9.87 फीसदी की ही इजाफा हुआ और यह इस समयावधि में 7,009 से बढ़कर 7,700 हो गई।

READ:  मानसून की बेरुखी से किसान परेशान, अब तो सूखने लगी है ज़मीन

विस्तृत रिपोर्ट को इंडियन एक्सप्रेस पर पड़ी जा सकता है….

मध्य प्रदेश उपचुनाव : अंदरूनी कलह से जूझ रही बीजेपी, प्रत्याशी चयन करना मुश्किल!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।