Home » अपनी असफलता को उपलब्धि बताकर उसका प्रचार करने का हुनर सिर्फ मोदी सरकार में है

अपनी असफलता को उपलब्धि बताकर उसका प्रचार करने का हुनर सिर्फ मोदी सरकार में है

क्या मोदी सरकार को है झूठ बोलने की आदत ?
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज़ादी की 74वीं वर्षगांठ पर 15 अगस्त को दिल्ली के लाल क़िले से दिए अपने भाषण में उपलब्धियों को चुन-चुनकर गिनाया। पीएम मोदी का लाल क़िले से ये 7वां संबोधन था। उन्होंने सेना और सुरक्षा बलों का भी अभिनंदन किया। पीएम मोदी ने 1 घंटा 26 मिनट का भाषण दिया । आज़ादी की 74वीं वर्षगांठ पर लाल क़िले से मोदी ने जिन उपलब्धियों को गिनाया, ज़मीन पर वे उपलब्धियां कितनी नज़र आती है ? आपको मोदी सरकार की ऐसी ही उपलब्धियों की सच्चाई बताते हैं

15 अगस्त के अपने संबोधन में चीन का नाम लिए बगैर पीएम मोदी ने कहा कि कहा कि भारत की संप्रभुता का सम्मान हमारे लिए सर्वोच्च है। इस संकल्प के लिए हमारे वीर जवान क्या कर सकते हैं, देश क्या कर सकता है, ये लद्दाख में दुनिया ने देखा है। चीन और पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि एलओसी से लेकर एलएसी तक, देश की संप्रभुता पर जिस किसी ने आंख उठाई है, देश ने, देश की सेना ने उसका उसी भाषा में जवाब दिया है।

क्या मोदी सरकार को है झूठ बोलने की आदत ?

भारत-चीन के बीच रिश्ते इस वक़्त नाज़ुक दौर में हैं। दोनों देशों के बीच 1962 में एक बार जंग हो चुकी है जिसमें चीन की जीत हुई और भारत की हार। इसके बाद 1965 और 1975 में भी दोनों देशों के बीच हिंसक झड़पें हुई हैं। इन तारीख़ों के बाद ये चौथा मौका है जब भारत-चीन सीमा पर स्थिति इतनी तनावपूर्ण है। 15-16 जून की रात को गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच झड़पें हुईं, जिसमें 20 भारतीय जवानों को चीनी सेना द्वारा बड़ी बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया।

READ:  Taliban update :क्या सच में अखुंदजादा को उतार दिया गया मौत के घाट, मुल्ला बरादर को भी बनाया गया बंधक?

चीन की आक्रमता पर मोदी सरकार लगातार ख़ामोश और बातों को दबाती रही है। गलवान घाटी पर चीन के जबरन घुसकर भारतीय पेट्रोलिंग प्वाइंट पर कब्ज़ा करने को लेकर उठे सावाल पर मोदी सरकार बैकफुट पर नज़र आई है। पीएम मोदी ने अपने एक भाषण में कहा था कि, ‘न वहां कोई हमारी सीमा में घुस आया है, न ही कोई घुसा हुआ है। न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है।

मध्य प्रदेश उपचुनाव: बीजेपी की योजना जमीनी स्तर पर तय!

पीएम मोदी के इस भाषण के बाद काफी हल्ला मचा। कई मीडिया रिपोर्ट्स ने दावा किया कि चीन भारतीय सीमा के कई किलोमीटर अंदर तक घुस आया। सेटेलाइट्स इमेज में भी इस बात खुलासा हुआ कि चीन भीरतीय सीमा के अंदर अपने सैन्य जमावड़े के साथ चौकियां बनाए हुए है। अब सवाल जो बार-बार पूछा जाता रहा कि, ‘अगर चीन ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ नहीं की है, तो उससे बात किस बारे में हो रही है’। लगभग 2 महीने हो चुके हैं मगर गलवान घाटी के विवाद को लेकर अभी भी वर्ता हो रही है।

पीएम मोदी आज चीन का नाम तक नहीं लेते

एक के बदले दस सर लाने की बात करने वाले मोदी आज गलवान घाटी पर 20 जवानों की शहादत पर नमन के अलावा कुछ और न कर सके। यही हाल पुलवामा में जवानों की शहादत का हुआ। पुलवामा जैसा इतना बड़ा अटैक कैसे और किसने अंजाम दिया ये आज भी अनसुलझा सवाल बना हुआ है। यही हाल गलवान घाटी में शहीद हुए जावानों के साथ हो रहा है।

READ:  मानसून की बेरुखी से किसान परेशान, अब तो सूखने लगी है ज़मीन

आज़ादी की 74वीं वर्षगांठ पर पीएम मोदी ने अपनी उपलब्धियां गिनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और दूसरी तरफ़ गलवान घाटी का मसला आभी भी नहीं सुलझा है। चीन लगातार पूरी गलवान घाटी पर अपना दावा करता रहा है। पीएम मोदी चीन पर बिना नाम लिए बोलते आए है। आख़िर मोदी चीन का नाम लेकर क्या साबित करना चाहते हैं ?

मध्य प्रदेश उपचुनाव : अंदरूनी कलह से जूझ रही बीजेपी, प्रत्याशी चयन करना मुश्किल!

पाकिस्तान से होने वाली झड़पों में मोदी सरकार ऐसे हमला वर होती है जैसे पूरी पाकिस्तान फतह करने वाली हो। वहीं आज जब चीन भारतीय सीमा पर लगातार अपनी आक्रमता दिखा रहा है तब यही सरकार उसका नाम तक नहीं ले पाती। 20 जावानों की शहादत का मोदी सरकार ने क्या बदला लिया ? 15 अगस्त को महज़ उपलब्धियां गिनाने वाले पीएम मोदी चीन के आगे नमस्तक नज़र आते हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।