फटी जीन्स पहनने पर इस देश में मिलेगी मौत की सजा, तानाशाह ने जारी किया फरमान

अगर आपसे कोई कहे कि जो अपनी नहीं बल्कि हमारी पसंद के पहनावे को पसंद करो,या कहे कि उस चीज से एंटरटेन करो जो मुझे पसंद है, तो आपका क्या जवाब होगा? जहां तक मैं सोच पाती हूं आपका जवाब होगा कि अपनी हिटलरगिरी अपने पास ही रखो या मुझे मत सिखाओ क्या सही है क्या गलत। अगर आपका जवाब भी कुछ इसी तरह का होगा तो आइए जानिए इस खास रिपोर्ट के बारे में।

नॉर्थ कोरिया (North Korea Kim Jong Un) अपनी अलग अलग नीतियों और तकनीकों के लिए तो जाना जाता ही है, साथ ही साथ अपने नए फरमानों को लेकर भी चर्चा का विषय बना रहता है। अभी कुछ समय पहले ही नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) ने नया फरमान जारी किया है। ये कोई ऐसा वैसा फरमान नहीं है जिसे अप यूं ही जाने दे सकते हैं।इस फरमान को अगर आपने नहीं माना तो आपको अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ सकता है। जी हां सही सुना आपने, किम जोंग उन के हिसाब से यदि आपने उनके जारी किए फरमान को नहीं माना तो आपको मौत की सजा सुना दी जाएगी।

किम जोंग उन की हालत नाज़ुक, कौन संभालेगा अब उत्तर कोरिया की सत्ता?

आपको बता दें अभी सूत्रों के हवाले से मिली खबर में पता लगा है कि किम जोंग उन ने एक नया नियम पारित किया है। इस नियम के तहत विदेशी फिल्म और विदेशी कपड़ों या सभ्यता को अपनाने वाले लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। इस नियम में जारी की गई एडवाइजरी में बताया गया है कि नॉर्थ कोरिया के लोग सिर्फ और सिर्फ उसी देश के पहनावे को पहनेंगे और वही की बनी हुई फिल्म को देखेंगे। ऐसा न करने पर अनवर जुर्माना लग जाएगा जिसके तहत उन्हें मौत की सजा सुना दी जाएगी।

बता दें इससे पहले भी कई बार कोरिया के तानाशाह ने कई ऐसे अजीबो गरीब फरमान जारी किए हुए हैं। इन फरमानों को देखकर तो कुछ यूं लगता है कि कोरिया अपनी जनता को बांधकर रखना चाहता है। इसी वजह से वो लोगों का विदेशी चीजों के प्रति रुझान कम करने के लिए ये सब कर रहा है। और अपनी बातो को मनवाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हो गया है।

मोदी सरकार के 5 बड़े घोटाले, जिनके सबूत मिटाने पर जुटी है सरकार

पहले भी उठाए कुछ ऐसे कदम

नॉर्थ कोरिया के अगर इतिहास की बात करे तो पहले भी नॉर्थ कोरिया में इस तरह की एडवाइजरी  को जारी किया जा चुका है। इस सबके पहले भी कोरिया के आम नागरिक को दुसरे देशों में खुले तौर पर घूमने की आजादी नहीं थी। सालो से चले आ रहे नॉर्थ कोरिया के इस रवैए से सिर्फ एक ही बात पता लगती है कि नॉर्थ कोरिया अपनी जनता को लेकर हमें ही चिंतित रहता है, और ऐसे फरमान इसलिए जारी करता है ताकि उसकी जनता बाहरी कंटेंट देखकर कहीं भड़ककर उसी के खिलाफ मोर्चा ना चला दे। जिसके चलते वो अपनी जनता को एकदम अपने रंग ढंग से बढ़कर रखना चाहता है।

नॉर्थ कोरिया के लोग भी जाना चाहते हैं बाहर

आपको लगता होगा कि क्या नॉर्थ कोरिया के लोग बाहर जाने का मन नहीं करते होंगे या उन्हें बाहरी चीजों को अपनाने का शौक नहीं होता होगा क्या?
तो इसका जवाब आपके पास ही है । आपन अपने आप से पूछकर देखिए कि क्या हो अगर आपको एक बंधन में बंधकर ताउम्र रहने को कहा जाए। ऐसे में कोरिया के लोगों का भी मन बाहर जाने का होता है। इसी के चलते कई लोगों ने कोरिया से भागने की भी कोशिश की जिसमे से कोई जोंग हुन वह से निकलने में कामयाब हो पाए। उन्होंने बताया जब वे कोरिया से निकलकर  नेपाल आए तो उन्होंने पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल किया। नेपाल में रहने के बाद कई सारी वीडियो और उत्तर कोरिया को लेकर इंटरनेट पर पड़ी बातों को देखने के बाद उन्हें इन सारी बातों पर विश्वास हो पाया।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।