Home » अंडरगार्मेंट और चप्पल में लगी चिप से नकल, देखकर उड़े होश

अंडरगार्मेंट और चप्पल में लगी चिप से नकल, देखकर उड़े होश

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Rajasthan : यूं तो कई तरीके नकलची इजात करते है नकल करने के लिए। कभी पेपर लीक कराना तो कभी आंसरशीट निकलवा लेना लेकिन बदलते देश की तकनीक के साथ ही नकल का भी नया तरीका निकाल लिया है। आपको बता दें राजस्थान में नकल की जड़ तो तब हो गई जब नकल रोकने के लिए राजस्थान सरकार ने इंटरनेट सुविधा एग्जाम भर के लिए बंद करा दी। मगर नकलचियों ने भी सोच रखा था कि हम किसी से कम नहीं जिसके चलते नकलचियों ने मोबाइल चप्पल और एक रिमोटेनुमा डिवाइस बनाई है।

इस तरह तैयार किया गया उपकरण

रिमोटनुमा यह डिवाइस महिलाओं और पुरुषों दोनों को दी गई। दोनों को अपने कपड़ों में इस डिवाइस को विशेष तरीके से बांध कर छुपाना था। पुरुषों को अंडरगारमेंट में इसे छुपाना था। इसके लिए एक धागा भी इसमें लगाया गया। वहीं, महिलाओं को इसे छिपाने के लिए सैनिटरी नैपकिन लगाना था।

International news : क्या है हवाना सिंड्रोम? जिसमे कोरोना के खत्म होने से पहले ही पसारे अपने पांव!

रिमोट जैसा ये डिवाइस 8cm लंबा और 4cm चौड़ा है। इसमें मोबाइल के सभी उपकरण फिट किए गए। बैटरी, सिम और मोबाइल चिप का इस्तेमाल किया गया। जांच में सामने आया कि इस डिवाइस में किसी तरह का बटन नहीं है। इसे सीधे कॉल से जुड़ना था। इस रिमोट से जुड़ा एक ब्लूटूथ मिनी ईयरफोन अभ्यर्थी को कान में लगाना था।

READ:  ग्रामीण लड़कियों की आजादी की डोर बनी फुटबॉल

नए उपकरण का नाम दिया गया “मोबाइल चप्पल”

आपको बता दें इस गैंग की जब सारी हदें खत्म हो गई और कोई तरीका नहीं मिला नकल करने का तब उन्होंने ऐसी चीजों पर दिमाग लगाया जिन्हे हम आसानी से एग्जाम हॉल में ले जाते है।  इसी पर दिमाग खर्च करते हुए उन्होंने चप्पलों में डिवाइस सेट करने का दिमाग लगाया। बता दें उन्होंने मार्केट से ऐसी स्पोंज वाली चप्पलें खरीदी जिन्हे बीच से काटकर पुनः जोड़ा जा सकता था। फिर क्या था उन्होंने अपनी तैयार की गई डिवाइस को चप्पल के बीच में रखकर उसे दोबारा जोड़कर तैयार कर दिया। इसमें मोबाइल बैटरी, मदर बोर्ड और अन्य मशीनरी के साथ सिम के लिए जगह रखी गई। ये मोबाइल ब्लूटूथ के जरिए कान में लगे एक ईयरफोन से जुड़ा होता था।

Taliban’s update : इमरान खान बन रहे थे तालिबान के हमदर्द, तालिबान ने कही ऐसी बात कि इमरान रह गए हक्के-बक्के!

इस गैंग से जुड़े 25 लोग पकड़े गए

जिन लोगों ने चप्पल खरीदी थी, उन्हें एग्जाम सेंटर से ही गिरफ्तार करने की योजना बनी थी। इसकी भनक रात को मुख्य सरगना तुलसीराम को लग गई थी। ऐसे में वो फरार हो गया। कुछ अभ्यर्थियों को भी पता चल गया था। ऐसे में वो भी सेंटर पर परीक्षा देने नहीं आए। आपको बता दें की परीक्षा के एक दिन पहले ही इसकी जानकारी हो गई थी लेकिन सारे लोगों को रंगे हाथों पकड़ने की साजिश के जरिए उन सभी लोगों को पकड़ लिया गया।

READ:  Karwa Chouth 2021: पत्नी के व्रत को यूं बनाएं स्पेशल, प्यार में लगाएं रोमांस का तड़का!

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter, and Whatsapp. And mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups