Home » खुशखबरी: अब 5 नहीं 1 साल में मिलेगी ग्रेच्युटी

खुशखबरी: अब 5 नहीं 1 साल में मिलेगी ग्रेच्युटी

New Labour code announced by Nirmala Sitharaman
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

लॉकडाउन से हो रहे देश को नुकसान से उबारने के लिए सरकार ने 20 लाख करोड़ के पैकेज (Economic Package) का ऐलान किया है। जिसके तहत मज़दूरों, व्यापारियों और कर्मचारियों के लिए कई बड़े ऐलान वित्तमंत्रालय करेगा। 15 दिन तक वित्तमंत्री लगातार यह ऐलान करेंगी। आज दूसरे दिन वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने एक और बड़ा ऐलान किया जिसके तहत सरकार लेबर कोड (New Labour Code) के जरिए श्रमिकों के हित में बड़े बदलाव करने जा रही है। यह कानून अभी संसद में लंबित है और वहां से पास होने के बाद श्रमिकों को इसका लाभ मिलेगा। इसमें यह प्रवधान किया गया है कि ग्रेच्युटी (Gratuity) का लाभ कर्मचारियों को 5 साल की बजाय एक साल की नौकरी के बाद ही मिलने लगेगा।

5 बड़ी बातें-

01

सरकार लेबर कोड के जरिए देशभर में सभी कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन दिलाएगी। अभी केवल 30 पर्सेंट कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन मिल पाता है। सरकार लेबर कोड पर काम कर रही है इसके तहत सभी कर्मचारियों के लिए न्यूनतम वेतन तय किया जाएगा। सभी राज्यों में न्यूनतम वेतन में अंतर को खत्म किया जाएगा। 

READ:  Amazon befitting reply to Panchjanya on East India comment
02

10 से अधिक कर्मचारियों वाले सभी संस्थानों के लिए देश के सभी जिलों में ईएसआईसी सुविधा को लागू किया जाएगा। 10 से कम कर्मचारी वाले संस्थान भी स्वेच्छा से ईएसआईसी से जुड़ सकते हैं। सभी कर्मचारियों का साल में एक बार स्वास्थ्य परीक्षण कराना अनिवार्य होगा। 

03

 इस बिल के पास होने के बाद सभी कंपनियों के लिए सभी कर्मचारियों को अपॉइंटमेंट लेटर देना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सभी कर्मचारियों का साल में एक बार हेल्थ चेकअप कराना होगा। 

04

44 लेबर संबंधी कानूनों को 4 लेबर कोड में समाहित किया गया है। यह संसद तक पहुंच गया है। संसद में पारित होने के बाद इसे लागू किया जाएगा। इसमें प्रावधान किया गाय है कि स्थायी कर्मचारियों को एक साल में ही मिलेगा ग्रेच्युटी का लाभ, अभी 5 साल की सेवा के बाद मिलता है। 

05

मौजूदा समय में पांच साल की सेवा पूरी करने के बाद कंपनी द्वारा कर्मचारी को यह लाभ दिया जाता है। यदि पांच साल से पहले नौकरी बदल ली जाए तो इसका लाभ नहीं मिलता है। ग्रेच्युटी का कर्मचारी बेसब्री से इंतजार करते हैं क्योंकि इसमें उन्हें एक अच्छी खासी रकम मिलती है। अभी ग्रेच्युटी की गणना के लिए 15 दिनों के अंतिम न्यूनतम वेतन को कामकाज के साल से गुणा किया जाता है और फिर इस रकम को 26 से भाग किया जाता है। न्यूनतम वेतन में महंगाई भत्ते को भी शामिल किया जाता है। 

READ:  Mark Zuckerberg suffered $6 billion in 6 hours due to Facebook down

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।