Home » लड़के ने रोज़ा तोड़कर बचाई एक मासूम की जान

लड़के ने रोज़ा तोड़कर बचाई एक मासूम की जान

blood donor day 2021
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश इस वक्त एक बड़े सकंट से गुज़र रहा है । कोरोना वायरस जैसी घातक बीमारी के चलते देशभर में लॉकडाउन चल रहा है । मगर दूसरी तरफ़ लॉकडाउन में चारों तरफ से नफ़रत भरी हिंसा की तमाम खबरें आ रही हैं । कोई मुसलमानों से सब्ज़ी नहीं खरीद रहा तो कोई आईडी चेक करके उन्हें पीट रहा है । लेकिन इन सब के बीच कुछ ऐसी भी खबरें भी आ रही हैं जिससे हिंदू मुस्लिम भाईचारे का एक बेहतरीन संदेश मिल रहा है ।

ऐसा ही एक मामला बिहार के दरभंगा से सामने आया है। जहां एक हिन्दू नवजात की जान बचाने के लिए एक मुस्लिम युवक ने अपना रोज़ा तोड़कर ख़ून दिया। मुस्लिम युवक का नाम मोहम्मद अशफ़ाक है। बताया जा रहा है कि नवजात के परिजनों ने फ़ेसबुक के ज़रिए मदद की गुहार लगाई थी। परिजनों ने नवजात की जान बचाने के लिए लोगों से ख़ून मांगा था। परिजनों की इसी गुहार को मोहम्मद अशफाक ने जब फ़ेसबुक पर देखा तो वो सीधे अस्पताल पहुंच गए और डॉक्टर्स से उनका खून लेने के लिए कहा।

लेकीन डॉक्टर्स ने उनका ख़ून लेने से मना कर दिया। डॉक्टर्स ने कहा कि उनका ख़ून रोज़े की वजह से नहीं लिया जा सकता। जिसके बाद अशफ़ाक ने बच्चे की जान बचाने के लिए रोज़ा तोड़ने का फैसला किया और खाना खाने के बाद ख़ून दान किया।ख़ून दान करने के बाद मीडिया से बातचीत में अशफाक ने कहा कि रोज़ा तो कभी भी रख लेगें। लेकिन अगर बच्चे को समय पर खून नहीं मिलता तो कुछ भी हो सकता था।

READ:  Travel 2021: सुंदर वादियों के बीच लें सनसेट-सनराइज का मजा, इन जगहों पर करें हॉलिडे प्लान

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।