Home » हाथ पर 786 लिखा देख मुस्लिम युवक का आरा मशीन से हाथ काटने का आरोप..

हाथ पर 786 लिखा देख मुस्लिम युवक का आरा मशीन से हाथ काटने का आरोप..

हाथ पर 786 लिखा होने के कारण मुस्लिम युवक का आरा मशीन से हाथ काटने का आरोप..
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हरियाणा के पानीपत में एक 28 वर्षीय युवक पर कथित हमले के कुछ दिनों बाद सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीर तेजी से शेयर हो रही है। युवक के भाई ने आरोप लगाया है कि उसके हाथ पर ‘786’ टैटू देख गुस्साए हमलावारों ने उसका हाथ आरा मशीन से काट दिया है।

वहीं एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि शुरूआती जांच से संकेत मिलता है कि 28 वर्षीय युवक ने एक बच्चे से छेड़छाड़ की और भागने की कोशिश में खुद घायल हो गया। साथ ही पानीपत के एसीपी सतीश कुमार वत्स ने भी सोशल मीडिया पर इस घटना को दिए जा रहे ‘सांप्रदायिक कोण’ को बिल्कुल बेतुका’ बताते हुए अस्वीकार किया।

READ:  Covid19 Vaccination: 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को लगेगा Coronavirus का टीका

यह घटना 23 अगस्त को हरियाणा क पानीपत में हुई थी। 28 वर्षीय युवक को अगली सुबह जीआरपी ने रेलवे ट्रेक पर पाया। उसके भाई के बयान के आधार पर जीआरपी ने एफआईआर दर्ज की और मामला मामला जांच के लिए स्थानीय पुलिस को स्थानांतरित कर दिया।

एसीपी सतीश कुमार वत्स ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया, हम जांच कर रहे हैं। लेकिन प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि वह व्यक्ति कथित तौर पर एक नाबालिग लड़के पर यौन हमले में शामिल था। वह घायल अवस्था में भाग गया और रेलवे पटरियों पर चोट लगी हो सकती है। उसे जीआरपी कर्मियों ने सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। जब मामला मेरे संज्ञान में लाया गया तो मैने जांच अधिकारी को उसका बयान दर्ज करने को भेजा लेकिन वह पहले भाग गया था।

READ:  IPL Bio Bubble : जानिए कैसा था ‘बायो बबल’ का सुरक्षा इंतज़ाम

पुलिस के वर्जन को चुनौती देते हुए 28 वर्षीय युवक के भाई ने कहा कि वो नाई का काम करता है, काम की तलाश में पानीपत गया था, जब वहां कुछ लोगों ने उसका नाम पूछा और पाया कि वह मुस्लिम है तो हमला कर दिया। चार पुरुषों और दो महिलाओं ने बाद में उसकी भुजाओं पर गुदवाया हुआ 786 टैटू देखा तो आक्रोशित हो गए और फिर आरा मशीन से उसका हाथ काट दिया और रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.