मेरी सरकार गिराने का हो रहा था इंतज़ार, इसके बाद किया गया लॉकडाउन !

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report । Bhopal

मध्यप्रदेश (MP ) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस ( congress ) के यूट्यूब चैनल पर प्रेस कॉन्फ्रेंस हुए शिवराज सिंह चौहान और केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश देश का इकलौता राज्य है जहां न स्वास्थ्य मंत्री है और न गृहमंत्री। कमलनाथ ने कहा, “ अजीब हाल हैं, 20 मार्च को मेरी सरकार गिराई। 23 मार्च को शिवराज मुख्यमंत्री बने। फिर लॉकडाउन कर दिया। इसे समझिए, मेरी सरकार गिराने का इंतज़ार हो रहा था।”

कमलनाथ ने कहा कि, “मैंने 20 मार्च को इस्तीफा दे दिया, लेकिन 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद लॉकडाउन की घोषणा की गई। राहुल गांधी ने फरवरी में ही कहा था कि कोरोना वायरस महामारी बड़ी समस्या में बदल जाएगी, लेकिन तब कुछ नहीं किया गया था। देश में कोरोना की स्थिति गंभीर है। टेस्टिंग किट नहीं हैं, इसलिए जांच भी नहीं हो रही। सरकार ने टेस्टिंग को मजाक बना दिया है। कभी कहती है किट मानेसर में बन रही है। कभी कहती है किसी और जगह से आने वाली है। 90 प्रतिशत टेस्टिंग सुविधा चीन से आती है। लेकिन, वहां जिन देशों ने पहले आर्डर दिए होंगे, पहले उनको ही मिलेगी। राज्य में 10 लाख लोगों में से 25 या 30 का ही टेस्ट हो पाता है।”

READ:  उत्तर प्रदेश : बेगुनाह लोगों को गोहत्या क़ानून का दुरुपयोग कर फंसा रही यूपी पुलिस !

विभिन्न राज्य विधानसभाओं को कोरोना के कारण स्थगित किया गया था, लेकिन हमारी सरकार चली जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए संसद चलती रही। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में हमने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जांच के लिए कुछ निर्णय लिए थे। हमने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए कदम उठाए थे। आठ मार्च को शॉपिंग मॉल, स्कूलों आदि को बंद करने का आदेश दिया था। उन्होंने यह भी कहा कि जब विधानसभा अध्यक्ष ने घोषणा की कि वह कोविड -19 के खतरे कारण सदन स्थगित कर रहे हैं, तब भाजपा के लोगों ने उनका माजाक उड़ाया था, लेकिन देखिए बाद में पूरे देश में लॉकडाउन है।

READ:  Delhi Violence : 34 लोगों की मौत,200 से ज़्यादा घायल

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।