Home » HOME » ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले – मैं कुत्ता हूं, कांग्रेस नेताओं को काट लूंगा

ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले – मैं कुत्ता हूं, कांग्रेस नेताओं को काट लूंगा

Jyotiraditya Scindia
Sharing is Important

MP election Result : मध्य प्रदेश उपचुनाव में सियासी सरगर्मियां और बयानबाज़ी अपने चर्म पर है। आरोप-प्रत्यारोप के साथ-साथ बेतुके बयान बयान भी चर्चा का हिस्सा बने हुए हैं। बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश में एक जनसभा में कांग्रेस और कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। सभा को संबोधित करते सिंधिया बोले-मैं कुत्ता हूं क्योंकि कुत्ता अपने मालिक और अपने दाता की रक्षा करता है.. हां कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं क्योंकि अगर कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक को उंगली दिखाए .. तो कुत्ता काटेगा उसे” ।

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस नेताओं को काट लेने की धमकी भी दे डाली है। सीएम शिवराज का मैं कमीना हूं वाले बयान के बाद सिंधिया का मैं कुत्ता हूं वाला बयान खूब वायरल हो रहा है। महाराज और श्रीमंत की उपाधियों से नवाज़े जानेवाले सिंधिया आखिर बीजेपी में जाकर कुत्ता, कौवा आदि उपाधियों से खुद ही खुद को क्यों पुकारने लगे, ये सभी को हैरत में डाल रहा है।


सभी 28 सीटों पर नज़र आ रही स्पष्ट हार से बौखलाई बीजेपी, शुरू किया संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग

ज्योतिरादित्य सिंधिया अशोकनगर के शाढ़ौरा में बीजेपी प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जी के समर्थन में जनसभा को संबोधित करने गए थे। इस दौरान वह कांग्रेस पर निशाना साधते हुए भड़क गए और उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ जी मुझे कुत्ता कहते हैं, हां मैं एक कुत्ता हूं, क्योंकि मैं लोगों का सेवक हूं, जनता मेरा मालिक है। क्योंकि एक कुत्ता अपने मालिक की रक्षा करता है और अगर कोई भ्रष्ट और गैर-इरादतन नीतियां लाता है तो यह कुत्ता उस व्यक्ति पर हमला करता है। हां मैं कुत्ता हूं क्योंकि मेरा मालिक जनता है और मैं उसकी रक्षा करता हूं।’

READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी पर मंड़राते ख़तरे को पहचानना ज़रूरी…!

क्यों कही यह बात ?

दरअसल, शुक्रवार को अशोकनगर में आयोजित एक सभा के दौरान आचार्य प्रमोद कृष्णन ने बिना नाम लिए कहा था कि, ‘जिस तरह से एक पिल्ला की रक्षा के लिए कुत्ता आगे आ जाता है, उसी तरह से यहां के विधायक को कार्रवाई से बचाने के लिए कुत्ता आ गया था।’  इस दौरान मंच पर कमलनाथ भी मौजूद थे।

शिवराज ने कहा था ‘मैं कमीना हूं’

बता दें कि दो दिन पहले ही सांची में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा था कि ‘मैं कमीना हूं’। शिवराज ने कमलनाथ को सेठ बताया था और तंज भरे लहजे में खुद को कमीना बताया था। उन्होंने कहा था, ‘मैं कमीना हूं इसलिए किसानों की सम्मान निधि बढ़ाई। मैं कमीना हूं, इसलिए लाखों गरीबों को आवास मिले। मैं कमीना हूं, इसलिए संबल योजना का लाभ गरीबों को मिल रहा है।

READ:  रवीश कुमार जन्मदिन: भारत में रात का अंधेरा न्यूज़ चैनलों पर प्रसारित ख़बरों से फैलता है

शिवराज बोले – कमलनाथ के दाग़ बड़े गहरे हैं, दुनियाभर के वॉशिंग पाउडर से भी नहीं धुलेंगे

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Scroll to Top
%d bloggers like this: