Home » MP Board 10th Results: लड़कियां रहीं अव्वल तो सरकारी स्कूल पड़े प्राईवेट पर भारी

MP Board 10th Results: लड़कियां रहीं अव्वल तो सरकारी स्कूल पड़े प्राईवेट पर भारी

MP Board 10th Results
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board) ने आज दोपहर 12 बजे 10th के नतीजे घोषित कर दिए हैं। मार्च में हुई परीक्षाओं के बाद छात्रों को अपने रिज़ल्ट का बेसब्री से इंतज़ार था। MP Board हर वर्ष 10th-12th के नतीजे साथ घोषित करता है लेकिन इस बार 12वी कक्षा के नतीजे इसी माह के तीसरे हफ्ते में घोषित किए जाएंगे। इस वर्ष कुल 62.84 फीसदी बच्चों ने 10th की परीक्षा पास की है। 15 छात्रों ने 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं वहीं 2 छात्रों ने 99.75 फीसदी अंक लाकर दूसरी रैंक हासिल की। 22 छात्रों ने 99.67 फीसदी अंक लाकर तीसरी रैंक हासिल की। इस वर्ष 11.5 लाख छात्र MP Board 10th की परीक्षा में उपस्थित रहे।

READ:  लोग कोरोना से मर रहे हैं और बीजेपी नेता राजश्री गुटखा के लिए चिंतित है

अपना रिज़ल्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें

अभिनव शर्मा, लक्षदीप धाकड़, प्रियांश रघुवंशी, पवन भार्गव, चतुर कुमार, हरिओम पाटीदार, राजनंदिनी सक्सेना, सिद्धार्थ नाथ शेखावत, हर्ष प्रताप सिंह, कविता लोधी, मुस्कान मालवीय, देवांशी रघुवंशी, कर्णिका मिश्रा, प्रशांत विश्वकर्मा और वेदिका विश्वकर्मा ने 100 फीसदी अंक प्राप्त कर इस बार बाज़ी मारी है। 30 साल में पहली बार 10वीं, 12वीं का अलग-अलग जारी हो रहा है रिजल्ट- एमपी बोर्ड के सूत्रों के अनुसार पिछले 30 सालों में इस बार पहली बार एमपी बोर्ड 10वीं और  12वीं का रिजल्ट अलग-अलग जारी किए जा रहे हैं। आज 10वीं के रिजल्ट जारी कर दिए गए और 12वीं के नतीजे इसी महीने के तीसरे सप्ताह में जारी किए जाएंगे। इस साल एमपी बोर्ड की परीक्षा में करीब साढ़े 11 लाख स्टूडेंट्स भाग लिया था।

READ:  गौमूत्र पीने से नहीं हुआ कोरोना, मैं रोज पीती हूँ: BJP MP Pragya Thakur

इस बार 68.77 फीसदी दिव्यांग छात्रों ने दसवी की परीक्षा पास की है। लड़कियों ने इस बार भी लड़कों को पीछे छोड़ दिया है। 73.20 फीसदी लड़कियां पास हुई 67.12 फीसदी लड़के ही दसवी की परीक्षा पास कर सके।

सबसे शानदार रिज़ल्ट राज्य के नीमच जिले का रहा यहां 79.13 फीसदी रिज़ल्ट रहा वहीं भिंड का रिज़ल्ट सबसे खराब रहा जहां केवल 42.01 फीसदी ही छात्र पास हो सके। गुना जिले के 3 छात्र मेरिट लिस्ट में टॉप 5 में जगह बनाई। सरकारी स्कूल के छात्रों ने प्राईवेट स्कूल की अपेक्षा बेहतर रिज़ल्ट दिया वहीं एक और खास बात यह रही कि छोटे कस्बों के बच्चों का रिज़ल्ट बड़े शहरों के मुकाबले बेहतर रहा।

READ:  अस्पताल में Oxygen Cylinder आते ही मरीजों के परिजनों ने लूट लिए, देखें वीडियो

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।