##MeToo: “1400 साल के जाहिल” एमजे अकबर इस वीडियों में महिलाओं के बारे कुछ कह रहे हैं ….

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

MeToo, एक साल पहले अमेरिका से निकला यौन शोषण पर यह कैपेन अब भारत में जोर पकड़ चुका है। इस कैंपेन ने बॉलीवुड के बाद अब भारत की राजनीति को अपनी चपेट में ले लिया है। इसका सबसे पहले शिकार विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर हुए हैं। उनपर कई वरिष्ठ महिला पत्रकार ने सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। वहीं विपक्ष इस मामले के तूल पकड़ने के बाद इस्तीफे की मांग कर रही है।

वहीं एमजे अकबर इन आरोपों के बाद बुरी तरह घिर गए हैं। उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी शेयर किया गया है। जिसमें वो राज्यसभा में ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर बोलते नजर आ रहे हैं। उनके द्वारा वीडियो में बोली गई बात, लगाए गए आरोपों से बिल्कुल उलट नजर आ रही है।

READ:  Feeling depressed in the lockdown? We've got some tips for you...

क्या बोल रहे हैं वीडियो में…
“कुछ लोग ऐसे थे जो खुुदा का नाम लेकर, उसको इस्तेमाल करके औरतों पर जुर्म करते थे। औऱ कुरान शरीफ में सख्त मना किया गया कि आप यह नहीं कर सकते लेकिन लगता है 1400 साल बाद कुछ लोग जाहिल थे जाहिल रहेंगे।”

गजला वहाब ने एम जे अकबर द्वारा यौन शोषण की उस समय की कहानी बयां की है, जब वो 1994 में अंग्रेजी अखबार ‘द एशियन एज’ में कार्य करती थीं और अकबर इस अखबार के संपादक थे।

गजला ने बताया है कि किस तरह वे अकबर की लेखनी से प्रभावित थीं और पत्रकार बनना चाहती थीं. लेकिन पत्रकार के तौर सीखने से पहले उनके भ्रम को टूटना था। गजला ने 1997 के उन 6 महीनों का जिक्र किया है जब अकबर ने उन्हें अपने केबिन में बुलाकर उनके साथ अश्लील हरकतें की।

READ:  मज़दूरों के वापस घर लौटने से भारतीय अर्थव्यवस्था को हो सकता है 3 लाख करोड़ से ज़्यादा का नुक़सान !

गजला के इस ट्वीट के बाद विदेश राज्यमंत्री के खिलाफ लगातार तीन महिला पत्रकारों ने सिलसिलेवार आरोप लगाए। वरिष्ठ पत्रकार प्रिया रमानी, शूमा राहा और लेखिका प्रेरणा सिंह बिंद्रा ने अकबर पर आरोप लगाए हैं।

 

 

 

 

 

 

%d bloggers like this: