Home » HOME » गृह मंत्रालय की गाईडलाईन, 20 अप्रैल से शुरु की जाएंगी ये सभी सेवाएं

गृह मंत्रालय की गाईडलाईन, 20 अप्रैल से शुरु की जाएंगी ये सभी सेवाएं

MHA Guideline on Lockdown Relaxation
Sharing is Important

Ground Report | News Desk

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने के बाद गृह मंत्रालय (MHA) ने लोगों की परेशानियों को कम करने के लिए कई ज़रुरी सेवाओं (Essential Services) को फिर से शुरु करने के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। 20 अप्रैल से खेती, आईटी, ई-कॉमर्स, ट्रांस्पोर्ट और लघू उद्योगों पर से पाबंदी हटाई जाएगी। इन सभी सेवाओं को शुरु करते वक्त सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जाएगा। नए निर्देशों में कोरोनावायरस से निपटने के लिए खास निर्देश दिए गए हैं। आईए नज़र डालते हैं 20 अप्रैल के बाद क्या होगा शुरु और क्या रहेगा बंद-

हेल्थ सेक्टर- स्वास्थ्य संबंधित सभी सेवाएं सुचारु रुप से जारी रहेंगी, मेडिकल स्टोर, फार्मेसी, वेटरनरी, हॉस्पिटल, क्लीनिक खुले रहेंगे।

खेती- किसान और गांव से संबंधित सभी ईकाई 20 अप्रैल से शुरु हो जाएंगी। इसमें खेती संबंधित सभी प्रकार के उद्योग-धंधे खुले रहेंगे। मछलीपालन, पशुपालन, कीटनाशक, खर्पतवार, दूध, रबर, चाय, सब्ज़ी, बीज से जुड़े सभी व्यापार खुले रहेंगे। किसानों को किसी प्रकार की मुश्किल न हो इस बात का ध्यान रखा जाएगा। खेती के लिए ज़रुरी उपकरण, मशीनों की आवाजाही, मार्केटिंग का काम चालू किया जाएगा। साथ ही फसल की बुवाई, कटाई और फिर अनाज की मंडी में बिक्री से लेकर स्टॉक तक कोई काम बाधित नहीं किया जाएगा। गांव में चलने वाले सभी नहर, रोड, निर्माण कार्य फिर शुरु किये जाएंगे। मनरेगा के तहत मज़दूर यहां काम कर सकेंगे।

READ:  Smart Power India facilitates the world’s largest portfolio of 500 mini-grids 

वित्तीय कामकाज– सभी बैंक, एटीएम, आरबीआई, इंश्योरेंस, लोन कंपनियां खुली रहेंगी। वित्तीय लेनदेन में किसी प्रकार की बाधा नहीं होगी। इन सभी जगह सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का खास ख्याल रखा जाएगा।

सामाजिक संगठन- बुज़ुर्ग, बच्चों, और दिव्यांगों के लिए काम करने वाले संगठन काम कर सकेंगे। इस दौरान कोरोनावायरस से बचाव पर खास ध्यान देना होगा।

ज़रुरी सेवाएं- पेट्रोल पंप, एलपीजी, गैस स्टोरेज और रिटेल प्रतिष्ठान खुले रहेंगे, बिजली और पेट्रोल उत्पादों का ट्रास्पोर्टेशन चलता रहेगा। पोस्टल सर्विस शुरु की जाएगी, नगरपालिका और पंचायत के कार्य शुरु होंगे। इंटर्नेट और संचार माध्यम सुचारु रुप से चलेंगे। खाद्य पदार्थों की बिक्री, राशन की सप्लाई, खरीदी, डिस्ट्रीब्यूशन। प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, ऑनलाईन खरीदी बिक्री, होम डिलीवरी, फूड डिलीवरी, सरकारी और गैर सरकारी कॉल सेंटर, कोल्ड स्टोरेज, वेयरहाउस, स्वरोजगार जैसे प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, मैकेनिक अपना काम कर सकेंगे।

ट्रांस्पोर्ट- माल ढुलाई संबंधित यातायात शुरु हो जाएगा। ट्रेन, हवाई मार्ग, जाहाज और ट्रकों से ज़रुरी सामान एक राज्य से दूसरे राज्य पहुंचाया जा सकेगा। एक ट्रक में ड्राईवर समेत तीन लोग ही बैठेंगे। इसका मकसद ज़रुरी खाद्य पदार्थों और दवाईयों की आपूर्ती में खलल न पड़ने देना है।

इंडस्ट्री- ज़रुरी चीज़ों का उत्पादन करने वाली इंडस्ट्री अपना काम शुरु कर सकेंगी। इसमें उत्पादन, पैकेजिंग, और डिस्ट्रीब्यूशन शामिल होगा। इन इंडस्ट्रीस में सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखना होगा। आईटी हार्डवेयर इंडस्ट्री भी अपना काम शुरु कर सकेंगी अगर वे ज़रुरी सेवाओं से संबंधित हैं तो।

READ:  What is Default Bail that gave relief to Sudha Bhardwaj?

अन्य- डिफेंस, मेडिकल, परिवार क्ल्याण, पुलिस, सेना, अर्धसैनिक, फायर और इमरजेंसी सेवाएं अपना कार्य जारी रखेंगे। मीडियाकर्मी भी अपना कार्य सुचारु रुप से जारी रखेंगे।

इन सभी सेवाओं के अलावा अगर कोई भी व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लंघन करेगा तो उसपर आईपीसी की धारा 51,60 और 188 के तहत कार्यवाई की जाएगी।

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।