Home » Medicine for Coronavirus: कोरोना वायरस के इलाज में कौन सी दवाइयां उपयोगी हैं?

Medicine for Coronavirus: कोरोना वायरस के इलाज में कौन सी दवाइयां उपयोगी हैं?

Medicine for Coronavirus: Which medicines are useful in the treatment of corona virus? कोरोना वायरस के इलाज में कौन सी दवाइयां उपयोगी है?
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Medicine for Coronavirus: भारत में कोरोना (corona) के मामले जितनी तेज़ी से बढ़ रहे हैं, उतनी ही तेज़ी से ठीक (Medicine for Coronavirus) भी हो रहे हैं। अब तक कोरोना वायरस (coronavirus) के भारत में 1.63 करोड़ मामले सामने आए जिनमें से 1.36 अधिक मरीज़ों की रिकवरी हो चुकी है। इन सबके बीच कई दवाइयों (Medicine for Coronavirus) की टैस्टिंग के बाद कई दवाइयां बाज़ार में हैं लेकिन अब जाकर कुछ दवाइयां (Medicine for Coronavirus) कारगर साबित हुई हैं। इन दवाइयों का उपयोग (Medicine for Coronavirus) कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज करने में किया जा रहा है। आइये जानते है ऐसी कौन सी दवाइयां है।

कोरोना में कौन सी दवाइयां उपयोगी
बाजार में इस समय बहुत सी अलग अलग दवाइयां चल रही है। कई तरह की वैक्सीन(vaccine), कई तरह की टैबलेट(tablet) लोगों को कंफ्यूज कर रही है। इस समय बहुत सी कंपनी अपनी-अपनी दवाइयां निकाल रही हैं। हर दवाई का अपना प्रयोग है लेकिन जरूरत का फायदा उठाकर लोगो को महँगे दामों में दवाई बेची जा रही हैं। हालात ऐसे हो चुके है कि कई दिन हो जाते है अस्पतालों में मरीज़ को डॉक्टर देखने नही आ पा रहे हैं। घर में क्वारेन्टीन(quarantine) हुए मरीज़ को डॉक्टर ठीक से परामर्श देने के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं। ऐसे में आप इन दवाइयों के जरिये कोरोना मरीज़ को ठीक कर सकते हैं।

Coronavirus: भाप लेने का सही तरीका अपनायें, कोरोना को दूर भगाएं!

रेमडीसिवीर(Remdesivir)
रेमडेसिवीर एक न्यूक्लियोसाइड राइबोन्यूक्लिक एसिड (RNA) पोलीमरेज़ इनहिबिटर इंजेक्शन है। है जो कोरोना वायरस के मरीज़ को देना जरूरी है। इस इंजेक्शन को कितनी मात्रा में देना है ये मरीज़ की आयु, वजन और जेंडर पर निर्भर करता है। रेमडीसीवीर को इबोला वायरस के लिए बनाया गया था पर अब कोरोना वायरस का इलाज भी इससे संभव हो रहा है। यह दवा सीधे वायरस पर हमला करती है। इसे ‘न्यूक्लियोटाइड एनालॉग’ कहा जाता है जो एडेनोसिन की नकल करता है, जो आरएनए(RNA) और डीएनए(DNA) के चार बिल्डिंग ब्लॉक्स में से एक है। इस इंजेक्शन का मिलना थोड़ा मुश्किल हो गया है क्योंकि इसकी खपत ज्यादा है। इसकी असली कीमत 900 रुपए है पर आपको यह दस हजार तक का भी लेना पड़ सकता है।

READ:  कौन है Oxygen Man, Coronavirus से जूझ रहे लोगों की कैसे बचा रहा जान?

फैविफ्लू 800mg टैबलेट (Feviflu 800mg Tablet)

यह एक एंटीवायरल(antiviral) दवा है। यह हल्के संक्रमण पर आसानी से असर करती है। यह दवा ग्लेनमार्क फार्मा कंपनी (glenmark farma company) द्वारा तैयार की गई है। पहले दिन में इसकी 1800mg की दो ख़ुराक मरीज़ को देनी होगी। उसके बाद दूसरे दिन से चौहदा दिन तक 800mg की दो खुराक खिलानी होगी। यह दवा मधुमेह या दिल की बीमारी से पीड़ित मरीज़ को भी दी जा सकती है। आपको यह 1 टेबलेट 75 रुपये की मिलेगी। इसकी एक पैक में 200mg की 34 टैबलेट की एक स्ट्रिप मिलती है।

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

एजिथ्रोमाइसिन (Azithromycin)
यह एक प्रकार की एंटीबायोटिक(antibiotics) दवा है जो कि बैक्टिरिया को बढ़ने से रोकती है। इस दवा का ड्रग की तरह भी प्रयोग होता है। एजिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल हैड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (hydroxychloroquine) के साथ किया जाता है। अभी तक यह दवा गंभीर रूप से संक्रमित मरीज़ को दी जाती थी। इसका प्रयोग इबोला वायरस (Ebola virus) में भी किया गया था। एजिथ्रोमाइसिन 500mg की एक खुराक मरीज़ को एक दिन में दी जाती है। इस दवा की 3 टैबलेट आपको 92 रुपए की मिल सकती है।

जिंकोविट टैबलेट (Zincovit Tablet)
जिंकोविट टैबलेट को जिंकोविट अपैक्स टैबलेट(zincovit apex tablet) के नाम से भी जाना जाता है। यह मरीज़ के शरीर में विटामिन(vitamin) की कमी को पूरा करने के लिए दी जाती है। इसमें विटामिन, विटामिन A,विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन B3, विटामिन B5, विटामिन B6, विटामिन B7, विटामिन B9, विटामिन B12, विटामिन C, विटामिन D3, विटामिन E है। खनिजों में जिंक, कॉपर, मेगनेन्स, मैग्नीशियम, आयोडीन, सेलेनियम, क्रोमियम, मोलिब्डेनम आदि होते हैं। यह थकान और कमजोरी की समस्या को कम करने के लिए दी जाती है। इसकी दो ख़ुराक मरीज़ को खिलानी चाहिये। यह दवा आपको अपने आस पास के किसी भी मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जाएगी। इसके एक पैक की कीमत 160 रुपए है।

READ:  अस्पताल में Oxygen Cylinder आते ही मरीजों के परिजनों ने लूट लिए, देखें वीडियो

Covid-19 Mask: कौनसा मास्क बचाएगा कोरोना की दूसरी लहर से?

डोलो 650mg टैबलेट (Dolo 650mg Tablet)
डोलो 650 एमजी टैबलेट (Dolo 650 MG Tablet) एक दर्द निवारक दवा है। यह दवा बुखार के कारण शरीर में होने वाले दर्द को भी कम करती है। इस दवा की 2 लगातार खुराक के बीच कम से कम 4 घंटे का अंतराल होना चाहिए। इस दवा की कुल खुराक प्रतिदिन 4g से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। यह दवा बुख़ार होने पर ही देनी चाहिए। इसकी एक गोली की 15 टैबलेट की कीमत 29 रुपए है।

डॉक्सी कैप्सूल (Doxy Capsule)
यह एक एंटीबायोटिक(antibiotic) दवा है। इसका इस्तेमाल बैक्टिरिया(bacteria) के संक्रमण को रोकने के लिए होता है। यह दवा खाने से पहले दी जाती है। इसका इस्तेमाल कई अलग-अलग प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्शन(bacteria infection) जैसे मुंहासे, यूरिनरी ट्रैक इंफेक्शन, आंत का इंफेक्शन, रेस्पिरेटरी का इंफेक्शन, आंख का संक्रमण, गोनेरिया, क्लायमेडिया, सिफलिस और मसूड़ों की बीमारियों का कारण बनने वाले विषाणु से किया जाता है। डॉक्टर की सलाह पर रोसेसिया, सूखा रोग में होने वाला संक्रमण, दस्त और अन्य समस्याओं में किया जा सकता है। इसकी एक दिन में दो खुराक दी जाती है। इस दवा का मूल्य 67 रुपए है। यह आपको अपने आस-पास के मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल सकती है।

कोरोना का इलाज: अगर रिपोर्ट पॉजिटिव भी आई है तो डरने की नहीं समझदारी की जरूरत है

विटामिन सी कैप्सूल (Vitamin C Capsule)
कोरोना के मरीज़ को 1500mg विटामिन सी( vitamin c) की डोज़ जरूरी है। यह दवा दिन में 3 से 4 बार दी जाती है। विटामिन सी शरीर के इम्युनिटी सिस्टम(immunity system) को मजबूत बनाता है। जिससे खाँसी, जुखाम जल्दी ठीक होता है। कोरोना के मरीज़ को बीमारी के समय ज्यादा धूप नहीं मिल पाती है जिससे उनके शरीर में विटामिन सी की मात्रा कम हो जाती है। विटामिन सी की कमी की वजह से सर्दी जुखाम जल्दी होता है। यह कैप्सूल मरीज़ को हर 4 घंटे के अंतराल में देनी चाहिए।

READ:  Complete Lockdown in Maharashtra: महाराष्ट्र में कभी लग सकता है पूर्ण लॉकडाउन, मुख्यमंत्री जल्द करेंगे घोषणा!

आइवरमेक्टिन (Ivermectin)
यह दवा एंटिपैरासाइटिक(anti parasitic) ड्रग है। इसकी ख़ुराक दिन में एक बार लगातार 3दिन तक दी जाती है। इसका इस्तेमाल किसी प्रकार की एलर्जी या संक्रमण को खत्म करने के लिए किया जाता है। इस दवा को 12mg एक बार मे दी जाती है। इसकी कीमत 180 रुपये है। इन सभी दवाओं का इस्तेमाल कोरोना मरीज़ को ठीक करने में किया जाता है। डॉक्टर भी इन्हीं दवा की सलाह देते हैं।

क्या कोरोना की दूसरी लहर की वजह आपको पता है?

(डिस्क्लेमर: हमने यहां जानकारी के लिए कोरोना वायरस के इलाज के लिए जानकारी के तौर पर दवाईयों का नाम साझा किए हैं। किसी भी दवा का सेवन करने से डॉक्टर से परामर्श या विशेषज्ञ की सलाह के बिना न लें।)

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.