Home » माखनलाल के पूर्व कुलपति कुठियाला पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

माखनलाल के पूर्व कुलपति कुठियाला पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट। भोपाल

माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय में कुलपति रहे प्रो. बीके कुठियाला पर अपने कार्यकाल के दौरान मनमर्जी से बड़ी संख्या में शिक्षकों की नियुक्ति करने और आर्थिक अनियमितताओं के आरोप हैं। मंगलवार को इस मामले की जांच कर रही एजेंसी ईओडब्ल्यू के समक्ष कुठियाला को पेश होना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। ईओडब्ल्यू ने कुठियाला को नोटिस जारी कर बयान दर्ज कराने के लिए 8 जून को तलब किया था, लेकिन कुठियाला ने 15 दिन का समय मांगा, जिसे डीजी के एन तिवारी ने खारिज कर दिया था। प्रो. कुठियाला 11 जून को पेश होने के लिए राज़ी हुए थे, लेकिन फिर भी वे पेशी के दिन नदारद रहे।

डीजी के एन तिवारी ने कड़ा रुख अपनाते हुए कुठियाला को तीन दिन का अल्टीमेटम दिया है, अगर वे फिर भी पेश नहीं हुए तो कुठियाला को गिरफ्तार किया जाएगा।

READ:  Mother and son hanged themselves : मां बेटे मिले फांसी के फंदे पर लटके, पुलिस ने जताई घरेलू मतभेद की आशंका

आपको बता दें कि भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, देश में पत्रकारिता के प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक है। देश भर के छात्र यहां पत्रकारिता की पढ़ाई करने आते हैं। प्रो. बीके कुठियाला के कार्यकाल के दौरान यहां कई शैक्षणिक पदों पर मनमर्ज़ी से अयोग्य लोगों की नियुक्ति का मामला सामने आया। कई बड़े पदों पर सिफारिश के माध्यम से लोगों की भर्ती कर दी गई। इस दौरान संस्थान में कई वित्तीय अनियमितताऐं भी सामने आई जिसकी जांच जारी है। इस मामले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू ने इस मामले में 20 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है।